अन्य राज्यों को भी महाराष्ट्र की सौहार्द्रपूर्ण राजनीतिक संस्कृति का अनुकरण करना चाहिए : गडकरी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 25, 2021   04:26
अन्य राज्यों को भी महाराष्ट्र की सौहार्द्रपूर्ण राजनीतिक संस्कृति का अनुकरण करना चाहिए : गडकरी
प्रतिरूप फोटो

मराठी फिल्मकार रामदास फुटाने की किताब के विमोचन के अवसर पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को कहा कि ‘‘ महाराष्ट्र में विभिन्न दलों के नेताओं के बीच सौहार्द्रपूर्ण संबंध की परंपरा रही है और इसका अनुकरण अन्य राज्यों में भी किया जाना चाहिए।’’

महाराष्ट्र की सौहार्द्रपूर्ण राजनीतिक संस्कृति की प्रशंसा करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को कहा कि अन्य राज्यों के नेताओं को भी इसका अनुकरण चाहिए।

भाजपा के वरिष्ठ नेता गडकरी ने यह बात मराठी फिल्मकार रामदास फुटाने की किताब के विमोचन के अवसर पर कही जो राजनीति पर अपने मजाकिया अंदाज के लिए जाने जाते हैं। गडकरी ने कहा, ‘‘ महाराष्ट्र में विभिन्न दलों के नेताओं के बीच सौहार्द्रपूर्ण संबंध की परंपरा रही है और इसका अनुकरण अन्य राज्यों में भी किया जाना चाहिए।’’

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री और मंत्री बनने के लिए पार्टी बदलने वालों को नहीं रखा जाता लंबे समय तक याद : गडकरी

उन्होंने कहा, ‘‘एक बार (समाजवादी पार्टी नेता) मुलायम सिंह यादव ने मुझसे पूछा कि कैसे वह और शरद पवार प्रतिद्वंद्वी पार्टी के होने के बावजूद एक साथ संसद में मुरली मनोहर जोशी के सम्मान कार्यक्रम में दिखाई दे रहे हैं। मैंने उनसे कहा कि महाराष्ट्र में राजनीति केवल चुनाव के दौरान होती है, उसके बाद हम सभी दोस्त होते हैं।’’

इसे भी पढ़ें: गडकरी को यूट्यूब से मिलती है हर महीने चार लाख रु की रॉयल्टी

गडकरी ने कहा कि यहां तक जब राज्य में भाजपा विपक्ष में थी तब भी शरद पवार (तब कांग्रेस सदस्य) और सुशील कुमार शिंदे उनके साथ सम्मानजनक तरीके से पेश आते थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...