दिल्ली के कुछ इलाकों में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी, फिलहाल राहत के आसार नहीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 30, 2022   22:39
दिल्ली के कुछ इलाकों में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी, फिलहाल राहत के आसार नहीं

आईएमडी के अनुसार, मैदानी इलाकों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक या सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस अधिक होने पर गर्म हवाओं को ‘लू’ घोषित किया जाता है। सामान्य से 6.4 डिग्री अधिक तापमान होने पर ‘भीषण लू’ की घोषणा की जाती है।

नयी दिल्ली। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि दिल्ली के कुछ हिस्सों में बुधवार को भीषण गर्मी पड़ी और अधिकतम तापमान तीन स्थानों पर 41 डिग्री को पार कर गया। लू का प्रकोप बृहस्पतिवार को भी बरकरार रहने की उम्मीद है। आईएमडी के अधिकारियों ने कहा कि लंबे समय तक सूखे के कारण उत्तर पश्चिम भारत में गर्म मौसम की स्थिति “गंभीर” हो गई है। विभाग के मुताबिक, “उत्तर पश्चिम, मध्य और पश्चिम भारत में लू का प्रकोप अगले चार से पांच दिनों तक जारी रहने की संभावना है।” 

इसे भी पढ़ें: अमित शाह का कांग्रेस पर निशाना, बोले- परिवार के आधार पर पार्टी चलाने वाले भाजपा को लोकतंत्र की सीख नहीं दें

आईएमडी के अनुसार, मैदानी इलाकों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक या सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस अधिक होने पर गर्म हवाओं को ‘लू’ घोषित किया जाता है। सामान्य से 6.4 डिग्री अधिक तापमान होने पर ‘भीषण लू’ की घोषणा की जाती है। दिल्ली में आठ मौसम केंद्रों ने अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा दर्ज किया। नरेला, पीतमपुरा और स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स केंद्रों पर तापमान क्रमश: 41.7 डिग्री सेल्सियस, 41.4 डिग्री सेल्सिययस और 41.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सफदरजंग वेधशाला को शहर का आधिकारिक मापक माना जाता है जहां तापमान 39.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से आठ डिग्री सेल्सियस ज्यादा था। 

इसे भी पढ़ें: Loksabha में अमित शाह बोले- निगमों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है दिल्ली सरकार

आईएमडी अधिकारियों ने कहा कि इसके बाद दिल्ली में तीन से पांच अप्रैल के बीच एक बार फिर लू चल सकती है। दिल्ली में पिछले साल 30 मार्च को अधिकतम तापमान 40.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। दिल्ली में 31 मार्च 1945 को 40.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था जो मार्च के महीने में दर्ज सर्वाधिक तापमान था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।