भारतीय सैन्य ठिकानों को पाक बना रहा था निशाना, एक पायलट लापता: MEA

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2019   18:09
भारतीय सैन्य ठिकानों को पाक बना रहा था निशाना, एक पायलट लापता: MEA

यह घटनाक्रम भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े शिविर को निशाना बनाए जाने के एक दिन बाद हुआ है।

नयी दिल्ली। विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े शिविर को भारत द्वारा नेस्तनाबूद किए जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत के सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने के लिए आज अपनी वायुसेना का इस्तेमाल किया, लेकिन उसके प्रयास को सफलतापूर्वक विफल कर दिया गया। हालांकि इस अभियान में एक भारतीय पायलट ‘‘लापता’’ हो गया। मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एअर वाइस मार्शल आरजीके कपूर के साथ एक अत्यंत संक्षिप्त बयान में यह भी कहा कि भारतीय पायलट को पकड़ लेने के पाकिस्तान के दावे की पड़ताल की जा रही है।

यह घटनाक्रम भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े शिविर को निशाना बनाए जाने के एक दिन बाद हुआ है। कुमार ने कहा, ‘‘इस आतंक रोधी अभियान के खिलाफ पाकिस्तान ने आज सुबह भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने के लिए अपनी वायुसेना का इस्तेमाल किया। हमारी उच्च स्तर की तैयारी और सतर्कता की वजह से पाकिस्तान के प्रयासों को सफलतापूर्वक विफल कर दिया गया।’’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी वायुसेना के विमान दिखते ही भारतीय वायुसेना ने त्वरित कार्रवाई की।

इसे भी पढ़ें: वायुसेना की कार्रवाई को विपक्ष ने सराहा, सरकार पर लगाया राजनीतिकरण का आरोप

कुमार ने कहा, ‘‘हवा में हुई उस झड़प में भारतीय वायुसेना के मिग 21 बाइसन ने पाकिस्तानी वायुसेना के एक लड़ाकू विमान को मार गिराया। जमीनी बलों ने पाकिस्तानी विमान को आसमान से पाकिस्तान की ओर गिरते देखा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस भिड़ंत में दुर्भाग्य से हमने एक मिग 21 को खो दिया। कार्रवाई में पायलट लापता है। हम तथ्यों की पड़ताल कर रहे हैं।’’ दोनों अधिकारियों ने मीडिया से कोई सवाल नहीं लिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...