अपने बयान से पलटा पाक, कहा- सिर्फ एक ही भारतीय पायलट को गिरफ्तार किया गया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2019   19:55
अपने बयान से पलटा पाक, कहा- सिर्फ एक ही भारतीय पायलट को गिरफ्तार किया गया

पाकिस्तानी सेना की ओर से जारी किये गए एक संक्षिप्त वीडियो में आखों पर पट्टी बांधे एक व्यक्ति दिख रहा है जो कह रहा है, मैं भारतीय वायुसेना का अधिकारी हूं।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की सेना ने बुधवार को अपने बयान से पलटते हुए कहा कि उसने  मात्र एक  भारतीय पायलट को गिरफ्तार किया है। इससे पहले उसने कहा था कि भारतीय वायुसेना के दो पायलट उसकी हिरासत में है। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा, पाकिस्तानी सेना की हिरासत में मात्र एक पायलट है। विंग कमांडर अभिनंदन के साथ सैन्य आचार नीति के मानकों के तहत बर्ताव किया जा रहा है। 

पाकिस्तानी सेना की ओर से जारी किये गए एक संक्षिप्त वीडियो में आखों पर पट्टी बांधे एक व्यक्ति दिख रहा है जो कह रहा है,  मैं भारतीय वायुसेना का अधिकारी हूं। मेरा सर्विस नंबर 27981 है।  इससे पहले गफूर ने दावा किया था कि भारतीय वायुसेना के दो पायलटों को गिरफ्तार किया गया है। एक पायलट घायल है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि एक अन्य पायलट को कोई चोट नहीं आई है। इधर, नयी दिल्ली में विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान की वायुसेना ने भारत में सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया, लेकिन उनकी कोशिशों को सफलतापूर्वक नाकाम कर दिया गया। हालांकि कार्रवाई में एक भारतीय पायलट  लापता  है।

इसे भी पढ़ें: वायुसेना की कार्रवाई को विपक्ष ने सराहा, सरकार पर लगाया राजनीतिकरण का आरोप

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि पाकिस्तान के मुताबिक भारतीय वायुसेना का एक पायलट उनकी हिरासत में है।  हम इसकी पड़ताल कर रहे हैं।  दूसरे वीडियो में वह व्यक्ति उस मिशन या विमान के बारे में बताने से इनकार कर रहा है जिसे वह उड़ा रहा था। उसने कहा कि पाकिस्तानी सेना के कप्तान ने उसे भीड़ से बचाया है। जब उससे उसकी पहचान के बारे में पूछा गया कि तो उसने कहा कि मैं दक्षिणी हिस्से से संबंध रखता हूं और शादीशुदा हूं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...