लेखक और पूर्व विधायक वाघ के निधन पर पर्रिकर और कांग्रेस ने जताया शोक

parrikar-condoles-demise-of-ex-mla-vishnu-wagh
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि गोवा विधानसभा में मेरे पूर्व सहयोगी और पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष विष्णु वाघ के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं।

पणजी। बीमार चल रहे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने बृहस्पतिवार को प्रख्यात लेखक और पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष विष्णु वाघ के निधन पर शोक जताया है। अग्नाशय से संबंधित बीमारी से पीड़ित पर्रिकर यहां अपने निजी आवास पर स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। पर्रिकर ने कहा कि वाघ एक प्रतिभाशाली व्यक्तित्व के धनी थे। उन्होंने कई क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। भाजपा के 53 वर्षीय पूर्व विधायक दिल का दौरा पड़ने के बाद अगस्त 2016 से बीमार चल रहे थे। उनकी पत्नी ने बुधवार को बताया कि आठ फरवरी को दक्षिण अफ्रीका में उनका निधन हो गया। तब वह केप टाउन की यात्रा पर थे।

इसे भी पढ़ें: बीमार चल रहे मनोहर पर्रिकर ने भाजपा के झंडे के साथ साझा की तस्वीर

पर्रिकर ने ट्वीट कर कहा कि गोवा विधानसभा में मेरे पूर्व सहयोगी और पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष विष्णु वाघ के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं। विष्णु वाघ बेहद प्रतिशाली व्यक्तित्व के थे। उन्होंने कई क्षेत्रों में अपनी उत्कृष्टता दिखायी। ईश्वर उनके परिवार को इस असीम क्षति से उबरने का साहस दे। उनके परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं हैं। वाघ 2012 और 2017 के बीच उत्तर गोवा जिले में सेंट आंद्रे विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे। विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने वाघ के निधन पर शोक जताया और साहित्य तथा राजनीतिक जगत में उनके योगदान की प्रशंसा की।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने अपने शोक संदेश में कहा कि गोवा के लिए वाघ का काम और प्यार हमेशा याद किया जाएगा। दक्षिण गोवा सीट से भाजपा के लोकसभा सदस्य नरेंद्र सवाईकर ने कहा कि वाघ उनके दोस्त और महान इंसान थे। गोवा कांग्रेस प्रमुख गिरीश चोडनकर ने एक ट्वीट किया, ‘बहुमुखी प्रतिभा के धनी विष्णु वाघ के निधन के बारे में जानकर दुखी हूं। गोवा ने बुद्धिमान और बहादुर बेटा खो दिया, मैंने सबसे प्रिय इंसान और मार्गदर्शक खो दिया। हमने उनके नेतृत्व में आईवाईसी गोवा में एक साथ काम किया। मैं दुख की इस घड़ी में उनके परिवार के साथ हूं।’

इसे भी पढ़ें: अल्पसंख्यक भाजपा के बहकावे में नहीं आ सकते

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री दिगम्बर कामत ने कहा कि वाघ कला एवं संस्कृति के क्षेत्र की एक अद्भुत प्रतिभा थे। वाघ ने मराठी में 20 से अधिक नाटक, तीन संगीत नाटिकाएं, 18 कोंकणी नाटक, 16 एकल नाटक और छह कविता संग्रह लिखे। उन्होंने कोंकणी और मराठी भाषाओं में 50 से अधिक नाटकों का निर्देशन भी किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़