लोगों को त्रिपुरा में भाजपा की ‘डबल इंजन’ सरकार का फायदा मिला: त्रिपुरा के मुख्यमंत्री

Manik Saha
प्रतिरूप फोटो
ANI
त्रिपुरा की 60 सदस्यीय विधानसभा के लिए 16 फरवरी को चुनाव होने हैं। साहा ने अपने निर्वाचन क्षेत्र टाउन बारडोवली में घर-घर प्रचार के बीच कहा, “ मैं जहां भी जाता हूं, लोगों के चेहरे पर मुस्कान देखता हूं क्योंकि उन्हें भाजपा की (राज्य और केंद्र की)डबल इंजन सरकार का लाभ मिला है।

अगरतला। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने बृहस्पतिवार को कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के लिए सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का मुख्य चुनावी मुद्दा ‘विकास’ होगा और दावा किया कि पार्टी 50 से ज्यादा सीटें जीतेगी। त्रिपुरा की 60 सदस्यीय विधानसभा के लिए 16 फरवरी को चुनाव होने हैं। साहा ने अपने निर्वाचन क्षेत्र टाउन बारडोवली में घर-घर प्रचार के बीच कहा, “ मैं जहां भी जाता हूं, लोगों के चेहरे पर मुस्कान देखता हूं क्योंकि उन्हें भाजपा की (राज्य और केंद्र की)डबल इंजन सरकार का लाभ मिला है। जिस तरह की प्रतिक्रिया हमें लोगों से मिल रही है, मुझे यकीन है कि भाजपा 50 से ज्यादा सीटें जीतेगी।”

साहा ने दावा किया कि लोग चाहते हैं कि पूर्वोत्तर राज्य की बेहतरी के लिए विकास की गति जारी रहे। उन्होंने कहा, “ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राज्य ने सड़क से लेकर इंटरनेट और रेलवे तक- सभी मोर्चों पर विकास देखा है। हमें विश्वास है कि जनता एक बार फिर से भाजपा सरकार बनाने में मुख्य भूमिका निभाएगी।” भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) यानी माकपा-कांग्रेस गठबंधन को आड़े हाथो लेते हुए मुख्यमंत्री ने दावा किया कि लोग निश्चित रूप से उनके ‘अपवित्र’ गठबंधन को खारिज करेंगे। उन्होंने कहा, “ मुझे हैरानी है कि कभी राज्य की राजनीति में धुर विरोधी रहे दल कैसेवोट मांगने के लिए घर-घर जाएंगे। वे अपनी मौकापरस्ती के कारण आगामी चुनाव में शून्य पर सिमट जाएंगे।”

इसे भी पढ़ें: Ram Sethu को राष्ट्रीय विरासत स्मारक घोषित करने की प्रक्रिया जारी, केंद्र ने न्यायालय से कहा

साहा ने राज्य में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति खराब होने के विपक्ष के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उनके पास बात करने के लिए वास्तविक मुद्दे नहीं हैं। भाजपा की सहयोगी आईपीएफटी के टिपरा मोथा के साथ बातचीत शुरू करने के कदम पर साहा ने कहा कि उस दल ने भाजपा को भी वार्ता के लिए पत्र लिखा है। उन्होंने कहा, “ हम आईपीएफटी के नेताओं के साथ जल्दी बैठक करेंगे और गठबंधन या सीट बंटवारे पर उनके विचार जानेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़