पुलवामा पर राजनीतिक लाभ का प्रयास करने वालों को जनता माफ नहीं करेगी: कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 18, 2019   19:35
पुलवामा पर राजनीतिक लाभ का प्रयास करने वालों को जनता माफ नहीं करेगी: कांग्रेस

पुलवामा आतंकी हमले में 40 भारतीय जवानों के शहीद होने की घटना से देशभर में आक्रोश के बीच अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार देश के जवानों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देगी और सेना माकूल जवाब देगी।

नयी दिल्ली। पुलवामा की घटना को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के ताजा बयान पर उन पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए कांग्रेस ने सोमवार को कहा कि जो लोग इस मामले में राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश कर रहे हैं, उन्हें देश की जनता माफ नहीं करेंगी। पार्टी ने यह भी कहा कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर कभी राजनीति नहीं कर सकती और अपने जवानों एवं सरकार के साथ खड़ी है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के राजस्थान में आज के बयान के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘देश के नागरिक के तौर पर हमें पुलवामा की घटना पर आक्रोश प्रकट करने का पूरा अधिकार है।...लेकिन अगर कोई राजनीतिक दल या संगठन इस मामले में राजनीति करता है अथवा राजनीतिक लाभ की कोशिश करता है तो मुझे लगता है कि देश की जनता इसे उपयुक्त नहीं समझेगी और माफ भी नहीं करेगी।’’

यह भी पढ़ें: पुलवामा हमले के सूत्रधार जैश के दो कमांडरों समेत 3 आतंकी ढेर, 6 जवान भी शहीद

दरअसल, पुलवामा आतंकी हमले में 40 भारतीय जवानों के शहीद होने की घटना से देशभर में आक्रोश के बीच अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार देश के जवानों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देगी और सेना माकूल जवाब देगी। जयपुर के सूरज मैदान में पार्टी के संकल्प केंद्र सम्मेलन में शाह ने कहा,‘‘इन जवानों ने हमारी सेना, हमारे सुरक्षाबलों की वीरता की परंपरा को आगे बढ़ाने का जो काम किया है, उस पर मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि भाजपा की नरेंद्र मोदी सरकार इनके बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देगी। इनके बलिदान का निश्चित रूप से माकूल जवाब हमारी सेना के जवानों द्वारा दिया जाएगा।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।