तेजपुर विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में PM मोदी ने सुनाई टीम इंडिया के संघर्ष की दास्तां, युवाओं को दिया यह मंत्र

  •  अनुराग गुप्ता
  •  जनवरी 22, 2021   11:37
  • Like
तेजपुर विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में PM मोदी ने सुनाई टीम इंडिया के संघर्ष की दास्तां, युवाओं को दिया यह मंत्र

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस टूर में क्या-क्या चुनौतियां नहीं आई, हमारी बहुत बुरी हार हुई लेकिन उतनी ही तेजी से हम उभरे भी और अगले मैच में जीत भी दर्ज की। चोट लगने के बावजूद हमारे खिलाड़ी मैदान में डटे रहे।

गुवाहाटी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तेजपुर विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम की जमकर सराहना की और उनके संघर्ष को सभी के समक्ष रखा। उन्होंने छात्रों को आगे बढ़ने की प्रेरणा भी दी। उन्होंने कहा कि आज 1200 से ज्यादा छात्रों के लिए जीवन भर याद रहने वाला क्षण है। आपके शिक्षक, आपके माता पिता के लिए भी आज का दिन बहुत अहम है। सबसे बड़ी बात आज से आपके कॅरियर के साथ तेजपुर विश्वविद्यालय का नाम हमेशा के लिए जुड़ गया है।  

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने PM मोदी के असम दौरे से पहले दागे 24 सवाल, कही यह अहम बात 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस टूर में क्या-क्या चुनौतियां नहीं आई, हमारी बहुत बुरी हार हुई लेकिन उतनी ही तेजी से हम उभरे भी और अगले मैच में जीत भी दर्ज की। चोट लगने के बावजूद हमारे खिलाड़ी मैदान में डटे रहे। चुनौतियां का हमारे युवा खिलाड़ियों ने सामना किया और उसका समाधान ढूंढा। कुछ खिलाड़ियों में अनुभव जरूर कम था लेकिन हौसला उतना ही बुलंद दिखा। उन्हें जैसे ही मौका मिला उन्होंने इतिहास बना दिया। 

इसे भी पढ़ें: पत्रकारों और मीडियाकर्मियों को नि:शुल्क कोरोना टीका लगाने कमलनाथ ने की मांग 

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि भारतीय टीम ने अनुभवी टीम को पराजित कर दिया। युवा साथियों क्रिकेट के मैदान पर हमारे खिलाड़ियों की यह प्रतिभा सिर्फ खेल के लिहाज से ही महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि एक लाइव लेशन भी है। पहला लेशन यह कि हमें विश्वास होना चाहिए। दूसरा यह कि हमें सकारात्मक विचारों के साथ आगे बढ़ना चाहिए क्योंकि उसका परिणाम भी सकारात्मक आता है। तीसरा यह कि अगर आपके पास एक तरफ सेफ निकल जाने का विकल्प हो और दूसरी तरफ मुश्किल जीत का विकल्प हो तो आपको जीत का विकल्प जरूर चुनना चाहिए और अगर जीतने की कोशिश में कभी-कभार असफलता भी हाथ लगे तो उसमें कोई नुकसान नहीं है। रिस्क लेने से कोई नुकसान नहीं है। हमें अपने भीतर के असफलता के डर को बाहर निकालना होगा।

यहां सुने पूरा संबोधन: 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


कोरोना वायरस: 21 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में उपचाराधीन मामलों की संख्या एक हजार से कम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2021   15:55
  • Like
कोरोना वायरस: 21 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में उपचाराधीन मामलों की संख्या एक हजार से कम

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में अभी 1,55,986 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 1.41 प्रतिशत है। कई राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश में वायरस के नए मामले बढ़ने की वजह से इनमें बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

नयी दिल्ली। देश में 20 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से मौत का एक भी मामला सामने नहीं आया। वहीं 21 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश में उपचाराधीन मामले एक हजार से कम हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि देश में अभी 1,55,986 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 1.41 प्रतिशत है। कई राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश में वायरस के नए मामले बढ़ने की वजह से इनमें बढ़ोतरी दर्ज की गई है। उसने कहा, ‘‘ हालांकि 21 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश में उपचाराधीन मामले 1,000 से कम है।’’ 

इसे भी पढ़ें: इंदौर में स्थानीय व्यापारी संगठनों का बंद नाकाम, रोज की तरह खुले बाजार 

आंकड़ों के अनुसार,जम्मू-कश्मीर में820,आंध्र प्रदेश में 611, ओडिशा में 609, गोवा में 531, उत्तराखंड में 491, बिहार में 478, झारखंड में 467, चंडीगढ़ में 279, हिमाचल प्रदेश में 244, पुडुचेरी में 196 लक्षद्वीप में 86, लद्दाख में 56, सिक्किम में 43, मणिपुर में 40 , त्रिपुरा में 32, मिजोरम में 27, मेघालय में 20, नगालैंड में 13, दमन एवं दीव तथा दादरा एवं नागर हवेली में पांच, अरुणाचल प्रदेश में तीन, अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह में दो लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है।

आंकड़ों के अनुसार, 20 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, आंध्र प्रदेश, झारखंड, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, असम, लद्दाख, त्रिपुरा, मिजोरम, नागालैंड, मणिपुर, मेघालय, सिक्किम, दमन एवं दीव तथा दादरा एवं नागर हवेली, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह में पिछले 24 घंटे में वायरस से मौत का एक भी मामला सामने नहीं आया। इस बीच, देश में कुल 1.34 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 का टीका लग चुका है। 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री चौहान की मध्य प्रदेश की जनता से अपील, बोले- वे महाराष्ट्र की यात्रा से बचें 

आंकड़ों के अनुसार, शुक्रवार सुबह सात बजे तक 2,78,915 सत्रों का आयोजन कर 1,34,72,643 लोगों को कोविड-19 के टीके लगाए जा चुके हैं। इनमें से 66,21,418 स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों (एचसीडब्ल्यू) को पहली खुराक और 20,32,994 स्वास्थ्य कर्मियों को दोनों खुराक दी जा चुकी है। वहीं अग्रिम मोर्चे पर तैनात 48,18,231 कर्मियों (एफएलडब्ल्यू) को पहली खुराक दी गई है। देश में 13 फरवरी को टीके की दूसरी खुराक देनी शुरू की गई थी। पहली खुराक देने के 28 दिन बाद दूसरी खुराक दी जाती है। अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों (एफएलडब्ल्यू) को दो फरवरी से टीके लगने शुरू हुए थे। अब तक हुए टीकाकरण में नौ राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश में 60 प्रतिशत से कम टीकाकरण हुआ है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


बालाकोट एयर स्ट्राइक की वर्षगांठ पर अमित शाह ने वायु सेना के जांबाजों को किया सलाम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2021   15:42
  • Like
बालाकोट एयर स्ट्राइक की वर्षगांठ पर अमित शाह ने वायु सेना के जांबाजों को किया सलाम

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को हुए आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान शहीद हो गये थे, जिसके कुछ दिनों बाद वायु सेना ने बालाकोट में आतंकवादी शिविरों पर एयर स्ट्राइक किये थे।

नयी दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बालाकोट एयर स्ट्राइक की वर्षगांठ पर शुक्रवार को भारतीय वायु सेना के जांबाजों की वीरता को सलाम किया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश की सुरक्षा सर्वोपरि है। भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने 26 फरवरी 2019 को नियंत्रण रेखा (एलओसी) पार करते हुए पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आंतकवादी शिविरों को नष्ट कर दिया था। शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘‘वर्ष 2019 में आज ही के दिन वायु सेना ने पुलवामा आतंकी हमले का जवाब देकर आतंकवाद के विरुद्ध नए भारत की नीति को स्पष्ट कर दिया था।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं पुलवामा के वीर शहीदों का स्मरण व वायु सेना की वीरता को सलाम करता हूं। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश व हमारे जवानों की सुरक्षा सर्वोपरि है।’’ उल्लेखनीय है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को हुए आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान शहीद हो गये थे, जिसके कुछ दिनों बाद वायु सेना ने बालाकोट में आतंकवादी शिविरों पर एयर स्ट्राइक किये थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


बढ़ती महंगाई को लेकर केंद्र सरकार पर बरसे वाड्रा, बोले- लोगों को राहत देने के बारे में सोचना चाहिए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2021   15:40
  • Like
बढ़ती महंगाई को लेकर केंद्र सरकार पर बरसे वाड्रा, बोले- लोगों को राहत देने के बारे में सोचना चाहिए

जयपुर की निजी यात्रा पर आए राबर्ट वाड्रा ने पेट्रोल- डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘महंगाई बढ़ी है, पेट्रोल- डीजल के दाम बढ़े हैं। केंद्र सरकार को सोचना पड़ेगा कि लोगों के हित में क्या कदम उठाए जा सकते हैं।’’

जयपुर। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा ने बढ़ती महंगाई व पेट्रोल- डीजल की आसमान छूती कीमतों को लेकर शुक्रवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि उसे लोगों को राहत देने के बारे में सोचना चाहिए। जयपुर की निजी यात्रा पर आए वाड्रा ने पेट्रोल- डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘महंगाई बढ़ी है, पेट्रोल- डीजल के दाम बढ़े हैं। केंद्र सरकार को सोचना पड़ेगा कि लोगों के हित में क्या कदम उठाए जा सकते हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: न्यायाधीश ने रॉबर्ट वाड्रा से जुड़े धनशोधन मामले की सुनवाई से खुद को किया अलग 

जयपुर की निजी यात्रा पर आए राबर्ट वाड्रा ने जयपुर के मोती डूंगरी गणेश मंदिर में पूजा- अर्चना की। वाड्रा ने अपने खिलाफ लगे विभिन्न आरोपों को राजनीति से प्रेरित बताया और कहा कि वह हर जांच में एजेंसियों को सारे दस्तावेज उपलब्ध करवा चुके हैं। वाड्रा ने कहा कि जितने भी आरोप लगाए हैं, सब बेबुनियाद हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept