PM मोदी बोले- भारत का टीकाकरण कार्यक्रम दुनिया में सबसे बड़ा, हमने जन-केंद्रित रणनीति अपनाई

PM मोदी बोले- भारत का टीकाकरण कार्यक्रम दुनिया में सबसे बड़ा, हमने जन-केंद्रित रणनीति अपनाई
Twitter

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने 98 देशों को 200 मिलियन कोविड वैक्सीन की डोज़ सप्लाई की है। भारत ने परीक्षण, उपचार और डेटा प्रबंधन के लिए कम लागत वाली कोविड शमन तकनीक विकसित की है। हमने अन्य देशों को भी इन क्षमताओं की पेशकश की है।

कोविड पर अमेरिका द्वारा आयोजित दूसरे डिजिटल वैश्विक शिखर सम्मेलन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत का टीकाकरण कार्यक्रम दुनिया में सबसे बड़ा है। उन्होंने कहा कि महामारी के खिलाफ हमने भारत में जन-केंद्रित रणनीति अपनाई। मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी अब भी जीवन व आपूर्ति श्रृंखला को बाधित कर रही है तथा खुले समाजों के लचीलेपन की परीक्षा ले रही है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने भविष्य में स्वास्थ्य संबंधी आपात स्थितियों से निपटने के लिए समन्वित वैश्विक उपायों की आवश्यकताओं पर जोर दिया।

इसे भी पढ़ें: भरूच में दृष्टिविहीन लाभार्थी से बात करते हुए भावुक हो गए PM मोदी, जानिए उनके संबोधन की बड़ी बातें

मोदी ने कहा कि कोविड महामारी जीवन को बाधित करती है, आपूर्ति श्रृंखलाओं को बाधित करती है और खुले समाज के लचीलेपन का परीक्षण करती है। भारत में हमने महामारी के ख़िलाफ़ एक जन-केंद्रित रणनीति अपनाई है। उन्होंने कहा कि हमने अपने वार्षिक स्वास्थ्य देखभाल बजट में अब तक का सबसे अधिक आवंटन किया है। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि हमारा टीकाकरण कार्यक्रम दुनिया में सबसे बड़ा है। हमने लगभग 90% वयस्क आबादी और 50 मिलियन से अधिक बच्चों को पूरी तरह से टीका लगाया है। उन्होंने कहा कि भारत WHO द्वारा अनुमोदित चार टीकों का निर्माण करता है और इस वर्ष 5 बिलियन खुराक का उत्पादन करने की क्षमता रखता है।

इसे भी पढ़ें: अमित शाह प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी को बताया ये, आखिर हिमंत बिस्व सरमा ने क्या कहा ऐसा, विपक्ष ने जिसे साजिश बताया

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि हमने 98 देशों को 200 मिलियन कोविड वैक्सीन की डोज़ सप्लाई की है। भारत ने परीक्षण, उपचार और डेटा प्रबंधन के लिए कम लागत वाली कोविड शमन तकनीक विकसित की है। हमने अन्य देशों को भी इन क्षमताओं की पेशकश की है। उन्होंने कहा कि भारत ने परीक्षण, उपचार और डेटा प्रबंधन के लिए कम लागत वाली COVID शमन तकनीक विकसित की है। हमने इन क्षमताओं की पेशकश दूसरे देशों को की है। भारत के जीनोमिक्स कंसोर्टियम ने वायरस पर वैश्विक डेटाबेस में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।