छात्रों से बोले PM मोदी- भारत के युवाओं को उम्मीद की नजर से देख रही दुनिया, आप देश के विकास इंजन

Narendra modi anna university
ANI
अंकित सिंह । Jul 29, 2022 12:00PM
मोदी ने कहा कि पूरी दुनिया भारत के युवाओं को उम्मीद की नजर से देख रही है। क्योंकि आप देश के विकास इंजन हैं और भारत दुनिया का विकास इंजन है। COVID-19 महामारी एक अभूतपूर्व घटना थी। यह सदी में एक बार आने वाला संकट था। इसने हर देश का परीक्षा लिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चेन्नई में अन्ना विश्वविद्यालय के 42वें दीक्षांत समारोह में हिस्सा लिया। इस दौरान नरेंद्र मोदी ने छात्रों को डिग्री प्रदान की। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि अन्ना विश्वविद्यालय के 42वें दीक्षांत समारोह में आज स्नातक करने वाले सभी लोगों को बधाई। आपने अपने दिमाग में पहले से ही अपने लिए एक भविष्य बना लिया होगा। इसलिए आज का दिन उपलब्धियों का ही नहीं, आकांक्षाओं का भी है। उन्होंने कहा कि पिछले साल भारत को 83 अरब डॉलर से ज्यादा का रिकॉर्ड FDI मिला था। हमारे स्टार्ट-अप्स को भी महामारी के बाद रिकॉर्ड फंडिंग मिली। इन सबसे ऊपर अंतर्राष्ट्रीय व्यापार की गति में भारत की स्थिति अब तक के सबसे अच्छे स्तर पर है। 

इसे भी पढ़ें: खेलों में कोई हारता नहीं, विजेता और भावी विजेता होते हैं: मोदी ने किया शतरंज ओलंपियाड का उद्घाटन

मोदी ने कहा कि पूरी दुनिया भारत के युवाओं को उम्मीद की नजर से देख रही है। क्योंकि आप देश के विकास इंजन हैं और भारत दुनिया का विकास इंजन है। COVID-19 महामारी एक अभूतपूर्व घटना थी। यह सदी में एक बार आने वाला संकट था। इसने हर देश का परीक्षा लिया। जैसा कि आप जानते हैं, विपत्तियां बताती हैं कि हम किस चीज से बने हैं। अपने वैज्ञानिकों, स्वास्थ्य पेशेवरों और आम लोगों की बदौलत भारत ने आत्मविश्वास से अज्ञात बिमारी का सामना किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष में, भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल फोन निर्माता था। नवाचार जीवन का एक तरीका बनता जा रहा है। पिछले 6 वर्षों में, मान्यता प्राप्त स्टार्ट-अप की संख्या में 15,000 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

इसे भी पढ़ें: मंत्रिपद के बाद TMC के अहम पदों से हटाए गए पार्थ चटर्जी, अभिषेक बोले- क्या भाजपा ने निर्मला सीतारमण को किया बर्खास्त ?

मोदी ने कहा कि 2016 में सिर्फ 470 से, यह अब लगभग 73,000 है। जब उद्योग और नवाचार अच्छा करते हैं, तो निवेश का अनुसरण होता है। पिछले साल भारत को 83 बिलियन डॉलर से अधिक का रिकॉर्ड एफडीआई प्राप्त हुआ। हमारे स्टार्ट-अप्स को भी महामारी के बाद रिकॉर्ड फंडिंग मिली। इन सबसे ऊपर, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार गतिकी में भारत की स्थिति अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है। इस अवसर पर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन और तमिलनाडु के राज्यपाल आर. एन. रवि भी उपस्थित रहे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़