प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टैगोर, गोखले और महाराणा प्रताप को दी श्रद्धांजलि

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 9, 2022   10:00
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टैगोर, गोखले और महाराणा प्रताप को दी श्रद्धांजलि
ANI

प्रधानमंत्री मोदी ने टैगोर, गोखले और महाराणा प्रताप की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता सेनानी गोपाल कृष्ण गोखले और महान योद्धा महाराणा प्रताप को भी श्रद्धांजलि दी। गोखले और महाराणा प्रताप का भी आज ही के दिन जन्म हुआ था।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोबेल पुरस्कार से सम्मानित विश्व कवि रवींद्र नाथ टैगोर की जयंती पर सोमवार को उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा कि वह आज भी अपने विचारों व कार्यों से लाखों लोगों को प्रेरित करते हैं। प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता सेनानी गोपाल कृष्ण गोखले और महान योद्धा महाराणा प्रताप को भी श्रद्धांजलि दी। गोखले और महाराणा प्रताप का भी आज ही के दिन जन्म हुआ था। वर्ष 1861 में पश्चिम बंगाल में जन्में टैगोर को याद करते हुए मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘मैं गुरुदेव टैगोर की जयंती पर उन्हें नमन करता हूं। अपने विचारों और कार्यों से वह लाखों लोगों को आज भी प्रेरित करते हैं।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस की भाजपा या आरएसएस के कोई दुश्मनी नहीं है, लेकिन हिंसा बर्दाश्त नहीं की जानी चाहिये: गहलोत

उन्होंने हमें अपने देश, अपनी संस्कृति और अपने मूल्यों पर गर्व करना सिखाया। उन्होंने शिक्षा, अध्ययन और सामाजिक सशक्तीकरण पर जोर दिया। हमलोग उनके सपनों का भारत बनाने को प्रतिबद्ध हैं।’’ टैगोर नाटककार, दार्शनिक और कवि थे। उन्हें 1913 में साहित्य के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। गोखले को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘भारतीय स्वाधीनता संग्राम में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। लोकतांत्रिक सिद्धांतों और सामाजिक सशक्तीकरण के प्रति उनकी प्रतिबद्धता हमें प्रेरणा देती रहती है।’’ महाराणा प्रताप को नमन करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘वीरता और पराक्रम के पर्याय महाराणा प्रताप को उनकी जयंती पर सादर नमन। उनके साहस और संघर्ष की गाथा देशवासियों को सदा प्रेरित करती रहेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।