आज के दिन को PM ने बताया ऐतिहासिक, कहा- Healthy Wealthy Future के लिए सबकी भागीदारी जरूरी

आज के दिन को PM ने बताया ऐतिहासिक, कहा- Healthy Wealthy Future के लिए सबकी भागीदारी जरूरी

मोदी ने कहा कि आज जब हम देश के हर ज़िले में कम से कम एक मेडिकल कॉलेज बनाने पर बल दे रहे हैं तो इसमें निजी क्षेत्र की भूमिका भी बहुत अहम है। इसके साथ ही मोदी ने कहा कि जब मरीज़ को आयुष्मान भारत योजना के तहत मुफ़्त में इलाज मिलता है तो उसकी सेवा होती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एम्स नई दिल्ली के झज्जर परिसर स्थित राष्ट्रीय कैंसर संस्थान(एनसीआई) में इंफोसिस फाउंडेशन विश्राम सदन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज का दिन इतिहास में दर्ज़ हो गया है। भारत ने 100 करोड़ वैक्सीन डोज़ का आंकड़ा पार कर लिया है। 100 साल में आई सबसे बड़ी महामारी का मुकाबला करने के लिए देश के पास अब 100 करोड़ वैक्सीन डोज़ का मज़बूत सुरक्षा कवच है। ये उपलब्धि भारत और भारत के प्रत्येक नागरिक की है।

मोदी ने कहा कि आज जब हम देश के हर ज़िले में कम से कम एक मेडिकल कॉलेज बनाने पर बल दे रहे हैं तो इसमें निजी क्षेत्र की भूमिका भी बहुत अहम है। इसके साथ ही मोदी ने कहा कि जब मरीज़ को आयुष्मान भारत योजना के तहत मुफ़्त में इलाज मिलता है तो उसकी सेवा होती है। ये सेवाभाव ही है जिसकी वजह से हमारी सरकार ने कैंसर की लगभग 400 दवाओं की कीमतों को कम करने के लिए कदम उठाए हैं। आजादी के इस अमृत काल में एक सशक्त हेल्थ केयर सिस्टम विकसित करने की दिशा में भारत आगे बढ़ रहा है। गांव-गांव तक फैले हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, ई-संजीवनी द्वारा टेलीमेडिसिन सुविधा,ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट, नए मेडिकल संस्थानों का निर्माण ऐसे ही काम देश के कोने-कोने में चल रहा है।

इसे भी पढ़ें: टीकाकरण का आंकड़ा 100 करोड़ के पार पहुंचने पर बोले प्रधानमंत्री मोदी- भारत ने इतिहास रचा

मोदी ने कहा कि ये सेवाभाव ही है, जिसके वजह से गरीबों को जन औषधि केंद्रों से बहुत सस्ती कीमतों में दवाएं दी जा रही हैं। मध्यम वर्गों को इससे साल भर में हजारों रुपये की बचत हो रही है। अस्पतालों में हर सुविधा मिले, अपॉइंटमेंट में कोई परेशानी न हो, इस पर भी बहुत ध्यान दिया जा रहा है। मेरा सौभाग्य रहा है कि हरियाणा से मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला है। जीवन के एक लंबे कालखंड में मुझे हरियाणा में काम करने का मौका मिला है। मैंने वहां बहुत सी सरकारों को निकट से देखा है। इस कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया भी मौजूद रहे। 

 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।