मणिपुर की स्थापना के 50 साल पूरे, PM मोदी बोले- विकास की रुकावटें हट गईं, अब पीछे मुड़कर नहीं देखना है

मणिपुर की स्थापना के 50 साल पूरे, PM मोदी बोले- विकास की रुकावटें हट गईं, अब पीछे मुड़कर नहीं देखना है
प्रतिरूप फोटो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नॉर्थ ईस्ट को एक्ट ईस्ट पॉलिसी का सेंटर बनाने के जिस विजन को लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं, उसमें मणिपुर की भूमिका अहम है। आपको पहली पैसेंजर ट्रेन के लिए 50 साल का इंतज़ार करना पड़ा। इतने दशकों बाद रेल का इंजन मणिपुर पहुंचा है, यही डबल इंजन की सरकार का कमाल है।

इंफाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मणिपुर के 50 साल पूरे होने पर देशवासियों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि स्थापना के 50 वर्ष पूरे होने पर मणिपुर को बहुत-बहुत बधाई। मणिपुर एक राज्य के रूप में आज जिस मुकाम पर पहुंचा है, उसके लिए बहुत लोगों ने अपना तप और त्याग किया है। ऐसे हर व्यक्ति को मैं नमन करता हूं। मणिपुर ने बीते 50 सालों में बहुत उतार चढ़ाव देखे हैं। हर तरह के समय को सभी मणिपुर वासियों ने एकजुटता के साथ जीया है, हर परिस्थिति का सामना किया है। यही मणिपुर की सच्ची ताकत है।

इसे भी पढ़ें: Manipur Assembly election 2022: पिछले पांच साल में न नाकेबंदी हुई, न कोई बंद, डबल इंजन सरकार की उपलब्धियों पर एक नजर 

उन्होंने कहा कि बीते 7 सालों में मेरा निरंतर प्रयास रहा है कि आपके बीच आऊं और आपकी अपेक्षाओं, अकाक्षाओं और आवश्यकताओं का फर्स्टहैंड अकाउंट ले सकूं। यही कारण है कि आपकी उम्मीदों और भावनाओं को और बेहतरीन तरीके से समझ पाया और समझस्याओं के समाधान के नए रास्ते तलाश कर पाया। उन्होंने कहा कि मणिपुर शांति डिज़र्व करता है, बंद-ब्लॉकेड से मुक्ति डिज़र्व करता है। ये एक बहुत बड़ी आकांक्षा मणिपुरवासियों की रही है। आज मुझे खुशी है कि बीरेन सिंह जी के नेतृत्व में मणिपुर के लोगों ने ये हासिल किया है। आज बिना किसी भेदभाव के मणिपुर के हर क्षेत्र, हर वर्ग तक विकास पहुंच रहा है, मेरे लिए यह व्यक्तिगत तौर पर संतोष की बात है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मुझे बहुत खुशी होती है कि आज मणिपुर अपना सामर्थ्य, विकास में लगा रहा है, यहां के युवाओं का सामर्थ्य विश्व पटल पर निखर कर आ रहा है। आज जब हम मणिपुर के बेटे-बेटियों का खेल के मैदान पर जज्बा और जुनून देखते हैं, तो पूरे देश का माथा गौरव से ऊंचा हो जाता है। मणिपुर के युवाओं के पोटेंशियल को देखते हुए राज्य को देश का स्पोर्ट्स पॉवर हाउस बनाने का बीड़ा हमने उठाया है। देश का पहला नेशनल स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की स्थापना के पीछे यही सोच है। खेल को खेल से जुड़ी शिक्षा, खेल प्रबंधन और तकनीकि को प्रोत्साहित करने के लिए बहुत बड़ा प्रयास है। स्पोर्ट्स ही नहीं स्टार्टअप और एंटरप्रेन्योरशिप के मामले में भी मणिपुर के लोग कमाल कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि नॉर्थ ईस्ट को एक्ट ईस्ट पॉलिसी का सेंटर बनाने के जिस विजन को लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं, उसमें मणिपुर की भूमिका अहम है। आपको पहली पैसेंजर ट्रेन के लिए 50 साल का इंतज़ार करना पड़ा। इतने दशकों बाद रेल का इंजन मणिपुर पहुंचा है, यही डबल इंजन की सरकार का कमाल है। मणिपुर में बेसिक सुविधाएं पहुंचने में दशकों लगे, लेकिन अब मणिपुर की कनेक्टिविटी पर तेजी से काम हो रहा है। आज हजारों रुपये की कनेक्टिविटी के प्रोजेक्ट्स पर तेजी से काम किया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब के बाद अब मणिपुर में क्यों होने लगी चुनाव तारीखों में बदलाव की मांग? इस वजह से वोटिंग से परहेज कर सकते हैं मतदाता! 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 50 वर्ष की यात्रा के बाद आज मणिपुर एक अहम पड़ाव पर खड़ा है। मणिपुर ने तेज विकास की तरफ सफर शुरू कर दिया है। जो रुकावटें थी वो अब हट गई हैं, यहां से अब हमें पीछे मुड़कर नहीं देखना है। उन्होंने कहा कि जिन ताकतों ने लंबे समय तक मणिपुर के विकास को रोके रखा, उनको फिर सिर उठाने का अवसर ना मिले, ये हमें याद रखना है। अब हमें आने वाले दशक के लिए नए सपनों, नए संकल्पों के साथ चलना है। मैं विशेष रूप से युवा बेटे-बेटियों से आग्रह करुंगा कि आपको आगे आना है। विकास के डबल इंजन के साथ मणिपुर को तेज गति से आगे बढ़ाना है।

यहां सुनें प्रधानमंत्री का संबोधन:-  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।