कांग्रेस के राजभवन घेराव पर पुलिस का लाठीचार्ज, बरसाए गए आंसू गैस के गोले

कांग्रेस के राजभवन घेराव पर पुलिस का लाठीचार्ज, बरसाए गए आंसू गैस के गोले

बैरीगेट तोड़कर आगे बढ़े कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने पहले तो जमकर लाठियां भांजी और फिर आंसू गैस के गोलों की बौछार कर दी। पुलिस की लाठी चार्ज के दौरान कांग्रेस के कई कार्यकर्ताओं को चोटे भी आई।

भोपाल। कृषि कानून के विरोध में मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के राजभवन घेराव पर निकले कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी और आंसू गैस के गोले छोड़कर भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश की गई। शनिवार को कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस और युवा कांग्रेस नेताओं व कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। कांग्रेस का यह प्रदर्शन और राजभवन घेराव किसान आंदोलन के समर्थन में कृषि कानून वापस लेने को लेकर था।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री बोले किसानों की आड़ में विरोधियों का आंदोलन

भोपाल में जवाहर चौक से कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता कृषि कानून को वापस लेने के लिए राजभवन का घेराव करने निकले थे। जिन पर पुलिस ने पहले वाटर कैनन से पावी की बौझार कर तितर-बितर करने की कोशिश की लेकिन बैरीगेट तोड़कर आगे बढ़े कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने पहले तो जमकर लाठियां भांजी और फिर आंसू गैस के गोलों की बौछार कर दी। पुलिस की लाठी चार्ज के दौरान कांग्रेस के कई कार्यकर्ताओं को चोटे भी आई। वही कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

इसे भी पढ़ें: यौन शोषण मामले में गवाह नाबालिग पीड़िता की मौत के मामले की एसआईटी करेगी जाँच

राजभवन की तरफ कूछ करने से पहले मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हम उन किसानों के समर्थन में खड़े है जो किसान,  केन्द्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीनों काले कृषि कानूनों का विरोध कर रहे है। वही कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस के लाठी चार्ज और आंसू गैस और वाटर कैनन छोड़े जाने पर आपत्ति जताते हुए प्रदेश की शिवराज सरकार पर निशाना साधा।    





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।