हिन्दू भावना को ठेस पहुंचाने के भाव से श्रद्धांजलि देने नहीं आए विपक्षी नेता: नीलकंठ तिवारी

UP Minister Neelkanth Tiwari
सत्य प्रकाश । Aug 25, 2021 7:23PM
यूपी के मंत्री ने कहा कि कांग्रेस व सपा के नेताओं ने नही दिया स्वर्गीय कल्याण सिंह के निधन पर श्रद्धांजलि, हिंदुओं का हुआ अपमान

अयोध्या। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन को लेकर पूरे देश और प्रदेश में श्रद्धांजलि दी जा रही है तो वही पक्ष नेताओं द्वारा किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया सामने आने के बाद प्रदेश के मंत्री नीलकंठ तिवारी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए तुष्टीकरण की राजनीति करने वाह देश हिंदू समाज का अपमान करने का आरोप लगाया है।

इसे भी पढ़ें: राम मंदिर ट्रस्ट के खिलाफ सीजीएम कोर्ट में डाली गई याचिका, 1 सितंबर को होगी सुनवाई

उत्तर प्रदेश के पर्यटन राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने कहा कि स्वर्गीय कल्याण सिंह उत्तर प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे भारत में राम भक्तों के रूप में विख्यात हुए थे और पिछड़ा वर्ग को मुख्यधारा से जोड़ने की जो संकल्पना थी अंतोदय की परिकल्पना को अपने जीवन काल में साकार किया उसके आगे भी बढ़ाए ऐसे के कल्याण सिंह के प्रति पूरे प्रदेश में हर व्यक्ति के मन में बहुत गहरी भावना है। 

इसे भी पढ़ें: अयोध्या आने वाले यात्रियों की यात्रा होगी प्रभावित, इस दिन आने से पहले ट्रेन का स्टेटस करें चेक

तो वहीं कल्याण सिंह के निधन पर कांग्रेस व समाजवादी पार्टी के नेताओं द्वारा श्रद्धांजलि तक ले जाने को लेकर प्रदेश के पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी ने कहा कि यह पुरे हिंदू समाज व राम भक्तों का अपमान है। यही भाव को लेकर स्वर्गीय कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि देने मुलायम सिंह यादव, सोनिया गांधी, राहुल गांधी अन्य कांग्रेसी और समाजवादी पार्टी के नेता आज तक नहीं सिर्फ एक तुष्टिकरण की राजनीति को लेकर के नहीं आये क्योंकि कल्याण सिंह की छवि राम भक्तों के रूप में है आज राम मंदिर आंदोलन के नायक भी रहे यही कारण है कि यह लोग श्रद्धांजलि देने से भी परहेज किया यह दुखद है जबकि सामाजिक जीवन में राजनीतिक क्षेत्र में ऐसा नहीं होना चाहिए वह सिर्फ वोट की राजनीति को लेकर के जो किया वह ठीक नहीं है पूरी जनता इस बात को देख रहे हैं

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़