प्रमोद सावंत ने CM पद की ली शपथ, दूसरी बार बने गोवा के मुख्यमंत्री, 8 विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथ

प्रमोद सावंत ने CM पद की ली शपथ, दूसरी बार बने गोवा के मुख्यमंत्री, 8 विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथ
प्रतिरूप फोटो

प्रमोद सावंत ने दूसरी बार गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राज्यपाल पीएस श्रीधरन पिल्लई ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में सोमवार को प्रमोद सावंत को मुख्यमंत्री पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उपस्थित रहे।

पणजी। तीन बार के विधायक प्रमोद सावंत ने दूसरी बार गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राज्यपाल पीएस श्रीधरन पिल्लई ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में सोमवार को प्रमोद सावंत को मुख्यमंत्री पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई समेत कई नेता उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें: चुनावों में जीत लोगों के मोदी के नेतृत्व में भरोसे का प्रमाण, कांग्रेस का हुआ सफाया : अमित शाह 

8 विधायकों ने ली मंत्रिपद की शपथ 

प्रमोद सावंत मंत्रिमंडल में विश्वजीत पी राणे, मौविन गोडिन्हो, रवि नाइक, नीलेश कैबराल, सुभाष शिरोडकर, रोहन खुंटे, गोविंद गौते और अतानासियो मोनसेरेट को शामिल किया गया। प्रमोद सावंत (48) उत्तरी गोवा के सांखालिम से विधायक हैं। 2017 में जब मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में भाजपा ने अपनी सरकार बनाई तो उन्हें विधानसभा अध्यक्ष चुना गया। उन्होंने मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद मार्च 2019 में पहली बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। प्रमोद सावंत पेशे से एक आयुर्वेद चिकित्सक हैं।

 

इसे भी पढ़ें: गोवा में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, एक्ट्रेस समेत तीन महिलाओं को किया गया अरेस्ट  

भाजपा ने 20 सीटों पर दर्ज की थी जीत  

हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 20 सीटों पर जीत हासिल की थी, जो 40 सदस्यीय सदन में बहुमत से एक कम है। ऐसे में भाजपा ने तीन निर्दलीय विधायकों और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के दो विधायकों की मदद से सरकार का गठन किया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।