राष्ट्रपति कोविंद ने सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स एन्क्लेव का किया उद्धाटन, जानिए मोटेरा स्टेडियम की खासियत

राष्ट्रपति कोविंद ने सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स एन्क्लेव का किया उद्धाटन, जानिए मोटेरा स्टेडियम की खासियत

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मोटेरा स्टेडियम का औपचारिक उद्धाटन किया। इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह, खेल मंत्री किरेन रिजिजू, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहे।

अहमदाबाद। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उनकी पत्नी सविता कोविंद ने सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स एन्क्लेव का भूमिपूजन किया। बता दें कि यह स्टेडियम गुजरात के अहमदाबाद में साबरमती नदी के पास स्थित है और इस स्टेडियम में एक लाख 10 हजार लोगों के बैठने की क्षमता है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मोटेरा स्टेडियम का औपचारिक उद्धाटन किया। इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह, खेल मंत्री किरेन रिजिजू, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहे। 

इसे भी पढ़ें: हार्दिक पांड्या ने शेयर किया वीडियो, बोले- अपने सपनों की ताकत को कमतर न समझें  

अत्याधुनिक सुविधाओं वाला यह स्टेडियम दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम है। यहां पर 76 वातानुकूलित कॉरपोरेट बॉक्स हैं। बता दें कि 63 एकड़ में फैले हुए मोटेरा स्टेडियम को बनाने में करीब 700 करोड़ रुपए का खर्चा आया है और यहां पर खास तरह की लाल और काली मिट्टी का इस्तेमाल कर पिच बनाई गई है। जिसकी संख्या 11 है। यानी की मोटेरा स्टेडियम में 11 अलग-अलग पिच हैं। 

इसे भी पढ़ें: टीम इंडिया में शार्दुल ठाकुर की जगह हुई उमेश यादव की वापसी! 

मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की तर्ज पर तैयार किए गए मोटेरा स्टेडियम में चार ड्रेसिंग रूम, एक स्वीमिंग पूल और 76 वातानुकूलित कॉरपोरेट बॉक्स हैं। इसके अलावा स्टेडियम में कई तरह की अन्य सुविधाएं भी हैं। जिनमें एक इंडोर क्रिकेट अकादमी शामिल है। मोटेरा स्टेडियम का ड्रेनेज सिस्टम खास है क्योंकि बारिश होने के 30 मिनट में ही ग्राउंड से पानी निकाला जा सकता है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...