देश के सभी प्रधानमंत्रियों के सम्मान में मोदी ने बनवाया प्रधानमंत्री संग्रहालय, जानिये कुछ बड़ी बातें

देश के सभी प्रधानमंत्रियों के सम्मान में मोदी ने बनवाया प्रधानमंत्री संग्रहालय, जानिये कुछ बड़ी बातें

हम आपको बता दें कि इस संग्रहालय में सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों के योगदानों का विस्तार से उल्लेख किया गया है और विभिन्न माध्यमों से उन्हें दर्शाया भी गया है। कहा जा सकता है कि प्रधानमंत्री संग्रहालय अपने आप में देश का अनूठा संग्रहालय है।

भारत के अब तक के सभी प्रधानमंत्रियों के जीवन पर विस्तृत जानकारी प्रदान करने वाला संग्रहालय (Prime Ministers Museum) बन कर तैयार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी 14 अप्रैल को इस संग्रहालय का उद्घाटन करेंगे। हमारे देश की राजनीति में अक्सर देखने को मिलता है कि एक प्रधानमंत्री अपने पूर्ववर्ती की उपलब्धियों का जिक्र नहीं करता बल्कि उनकी कमियों को ही गिनाता है। लेकिन नरेंद्र मोदी सबसे अलग प्रधानमंत्री हैं जो सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास के सिद्धांत पर चलते हैं। अपने लक्ष्यों पर अडिग रहना और अपने पूर्ववर्तियों का सम्मान उनकी कार्यशैली की विशेषता है। कोई भी प्रधानमंत्री सिर्फ अपने ही प्रचार प्रसार पर ध्यान देता है लेकिन नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि अब तक के प्रधानमंत्रियों के कार्यकाल की उपलब्धियों को भी देश करीब से जाने इसीलिए उन्होंने बनवाया है प्रधानमंत्री संग्रहालय।

सबको देखना चाहिए प्रधानमंत्री संग्रहालय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भाजपा संसदीय दल की बैठक में तीन मूर्ति भवन परिसर में बन रहे पूर्व प्रधानमंत्रियों के संग्रहालय के महत्व को रेखांकित करते हुए सभी सासंदों से कहा कि उनको इसे जरूर देखना चाहिए। हम आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी 14 अप्रैल को संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर की जयंती पर इस संग्रहालय का उद्घाटन करने वाले हैं। भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्रियों के संग्रहालय का उल्लेख करते हुए कहा कि भले ही इसमें भाजपा के एक प्रधानमंत्री हों लेकिन देश के हर एक प्रधानमंत्री का योगदान महत्वपूर्ण है और उसका सम्मान किया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा, ''हमारे तो एक ही हैं, बाकी उनके हैं.... लेकिन हमें दलगत भावना से ऊपर उठकर सभी प्रधानमंत्रियों का सम्मान करना चाहिए। आप सभी को वहां जाना चाहिए।’’

इसे भी पढ़ें: नेहरू संग्रहालय का नाम बदलेगी मोदी सरकार, जानिए अब किस नाम से जाना जाएगा

क्या है प्रधानमंत्री संग्रहालय में?

हम आपको बता दें कि इस संग्रहालय में सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों के योगदानों का विस्तार से उल्लेख किया गया है और विभिन्न माध्यमों से उन्हें दर्शाया भी गया है। कहा जा सकता है कि प्रधानमंत्री संग्रहालय अपने आप में देश का अनूठा संग्रहालय है जिसमें सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों के बारे में करीब से जानने का मौका मिलेगा। केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय की ओर से तैयार किये गये इस संग्रहालय में लोगों को भारत के 14 पूर्व प्रधानमंत्रियों के बारे में सारी जानकारी मिलेगी। इस संग्रहालय में सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों को उनके कार्यकाल के मुताबिक स्थान दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर बन कर तैयार इस अनूठे संग्रहालय को तैयार करते समय सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों के परिजनों से संपर्क कर उनके जीवन से जुड़ी दिलचस्प जानकारियों को एकत्रित कर यहां प्रदर्शित किया गया है। आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत बने इस संग्रहालय का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इस अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन संस्कृति मंत्रालय की ओर से किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री संग्रहालय में किसके भाषण सुन सकेंगे?

पूर्व प्रधानमंत्री संग्रहालय में लोग देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के साथ ही अब तक के सभी प्रधानमंत्रियों के भाषण भी सुन सकेंगे। इसके लिए संस्कृति मंत्रालय ने प्रसार भारती से सभी प्रधानमंत्रियों के भाषणों की रिकॉर्डिंग खरीद कर यहां उपलब्ध कराई है। अब तक के प्रधानमंत्रियों ने चाहे देश में भाषण दिया हो या विदेश में, उनके भाषणों के सभी संकलन यहां सुने जा सकेंगे। हम आपको बता दें कि इस संग्रहालय में देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के अलावा देश के कार्यकारी प्रधानमंत्री रहे गुलजार लाल नंदा, लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी, मोरारजी देसाई, चरण सिंह, राजीव गांधी, वीपी सिंह, चंद्रशेखर, पीवी नरसिंह राव, अटल बिहारी वाजपेयी, एचडी देवगौड़ा, इंद्रकुमार गुजराल, मनमोहन सिंह और वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण सुने जा सकेंगे।

प्रधानमंत्री संग्रहालय से जुड़ी कुछ और बड़ी बातें

प्रधानमंत्री संग्रहालय में देश के प्रत्येक प्रधानमंत्री को समर्पित एक गैलरी है जिसमें उनके कार्यकाल की उपलब्धियां, उनके कार्यकाल में हुए करार, उनके विदेशी दौरे तथा उनके जीवन से जुड़ी बड़ी बातें होंगी। इस संग्रहालय के निर्माण के पीछे मोदी सरकार की मंशा यह भी थी कि आने वाली पीढ़ी अपने सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों को करीब से समझ सके और देश के लिए किये गये उनके योगदान को जान सके। साथ ही इसके निर्माण से राजनीतिक विषयों पर शोध करने वालों को भी काफी मदद मिलेगी। इसके अलावा अब तक के प्रधानमंत्रियों के बारे में बातें तो सभी करते हैं लेकिन उनकी यादों को सहेजने का काम नहीं किया गया था इसलिए मोदी सरकार ने इस संग्रहालय को बनाया ताकि पूर्व प्रधानमंत्रियों के जीवन से लोग सीख ले सकें। हम आपको बता दें कि पंडित नेहरू की याद में बने नेहरू संग्रहालय में ही यह प्रधानमंत्री संग्रहालय बनाया गया है। सूत्रों के मुताबिक इस संग्रहालय का निर्माण 271 करोड़ रुपए की लागत से करवाया गया है।

- नीरज कुमार दुबे





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।
Related Topics
Prime Ministers Museum Prime Ministers Museum Delhi Nehru Memorial Museum Prime Ministers Museum of India PMs museum PMs museum opening date PMs museum opening PMs museum news Prime Ministers Museum videos Prime Ministers Museum images Prime Ministers Museum kahan hain Prime Ministers Museum ka ticket pm modi ministry of culture of india hindi headlines hindi news today प्रधानमंत्री संग्रहालय नेहरू संग्रहालय भारत का प्रधानमंत्री संग्रहालय प्रधानमंत्री संग्रहालय दिल्ली प्रधानमंत्री मोदी नरेंद्र मोदी संस्कृति मंत्रालय अंबेडकर जयंती प्रसार भारती तीन मूर्ति भवन पंडित जवाहर लाल नेहरू गुलजारी लाल नंदा लाल बहादुर शास्त्री इंदिरा गांधी मोरारजी देसाई चरण सिंह राजीव गांधी वीपी सिंह चंद्रशेखर पीवी नरसिंह राव अटल बिहारी वाजपेयी एचडी देवगौड़ा इंद्रकुमार गुजराल मनमोहन सिंह मोदी सरकार