नेहरू संग्रहालय का नाम बदलेगी मोदी सरकार, जानिए अब किस नाम से जाना जाएगा

नेहरू संग्रहालय का नाम बदलेगी मोदी सरकार, जानिए अब किस नाम से जाना जाएगा
प्रतिरूप फोटो

प्राप्त जानकारी के मुताबिक भाजपा संसदीय दल की बैठक में निर्णय किया गया है कि नेहरू संग्रहालय का नाम बदला जाएगा और यहां पर देश के सभी 14 प्रधानमंत्रियों से जुड़े दस्तावेजों को सहेजकर रखा जाएगा। आपको बता दें कि नेहरू संग्रहालय को पीएम म्यूजियम के नाम से जाना जाएगा। जिसका उद्धाटन प्रधानमंत्री मोदी अंबेडकर जयंती के दिन करेंगे।

नयी दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की संसदीय दल की बैठक मंगलवार को अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में हुई, जहां पर दो बड़े फैसले लिए गए हैं। आपको बता दें कि पांच राज्यों में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद दूसरी दफा भाजपा संसदीय दल की बैठक हुई है। इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह समेत तमाम पार्टी पदाधिकारी शामिल हुए। 

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी ने एमपी को दिया तोहफा, 5 लाख से ज्यादा गरीबों को कराया गृह प्रवेश 

बदला जाएगा नेहरू संग्रहालय का नाम

प्राप्त जानकारी के मुताबिक भाजपा संसदीय दल की बैठक में निर्णय किया गया है कि नेहरू संग्रहालय का नाम बदला जाएगा और यहां पर देश के सभी 14 प्रधानमंत्रियों से जुड़े दस्तावेजों को सहेजकर रखा जाएगा। आपको बता दें कि नेहरू संग्रहालय को पीएम म्यूजियम के नाम से जाना जाएगा। जिसका उद्धाटन प्रधानमंत्री मोदी अंबेडकर जयंती के दिन करेंगे।

इसके अलावा इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने सभी भाजपा सांसदों से अपील की कि वो 6 से 14 अप्रैल के बीच अपने-अपने संसदीय क्षेत्र में सामाजिक न्याय के तहत कार्यक्रम का आयोजन करें। दरअसल, 6 अप्रैल को भाजपा अपना स्थापना दिवस मनाएगी। इसके लिए बकायदा एक खाका तैयार किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: किसके साथ गठबंधन करेगी आम आदमी पार्टी ? अरविंद केजरीवाल ने दिया दिलचस्प जवाब 

14 दिन पहले भी हुई थी बैठक

इससे पहले भाजपा संसदीय दल की बैठक 15 मार्च को हुई थी। जिसमें भाजपा नेताओं ने चार में चुनाव जीतकर सत्ता में वापसी करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा का जोरदार अभिनंदन किया था। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि परिवारवादी पार्टियां देश को खोखला कर रही हैं। ऐसे में देश को परिवारवाद से मुक्ति दिलाई है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...