प्रियंका चतुर्वेदी ने स्वास्थ्य मंत्री को लिखा पत्र, कहा- गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाओं का भी हो टीकाकरण

प्रियंका चतुर्वेदी ने स्वास्थ्य मंत्री को लिखा पत्र, कहा- गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाओं का भी हो टीकाकरण

प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि दूसरी लहर में गर्भवती महिलाओं को कोरोना का खतरा बढ़ गया है। गगैर गर्भवती महिलाओं की तुलना में गर्भवती महिलाओं में मृत्यु का जोखिम 70% अधिक है।

शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखकर गर्भवती महिलाओं को टीकाकरण के दायरे में शामिल करने का अनुरोध किया है। उन्होंने लिखा कि भारत के टीकों के सैद्धांतिक लाभ बीमारी के जोखिम से अधिक हैं और डब्ल्यूएचओ ने भी गर्भवती महिलाओं को टीका लगाने की सिफारिश की है।

प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि दूसरी लहर में गर्भवती महिलाओं को कोरोना का खतरा बढ़ गया है। गैर गर्भवती महिलाओं की तुलना में गर्भवती महिलाओं में मृत्यु का जोखिम 70% अधिक है। 19 मई 2021 को केंद्र सरकार ने स्तनपान कराने वाली महिलाओं के टीकाकरण की अनुमति दी। हालांकि, FOGSI और NTAGI के कहने के बावजूद गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण के  निर्णय को आगे के विचार-विमर्श के लिए रोक कर रखा गया है। प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि टीके की प्रक्रिया में उन्हें शामिल करने के बाद ना केवल उनके जीवन को खतरा कम होगा बल्कि जन्म लेने वाले बच्चे और नवजात शिशु को भी कम जटिलताओं का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने उम्मीद व्यक्त की कि उनके आग्रह पर विचार किया जाएगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।