कृष्णानंद राय हत्याकांड का आरोपी इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 10, 2020   07:22
कृष्णानंद राय हत्याकांड का आरोपी इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर

बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के आरोपी का एनकाउंटर हो गया। यूपी एसटीएफ ने मुठभेड़ में इनामी बदमाश हनुमान पांडेय को मुठभेड़ में मार गिराया है।

लखनऊ। भाजपा विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड का आरोपी कुख्यात इनामी बदमाश हनुमान पांडे उत्तर प्रदेश पुलिस के विशेष कार्यबल (एसटीएफ) के साथ रविवार को मुठभेड़ में मारा गया। अधिकारियों ने बताया कि कथित माफिया सरगना मुख्तार अंसारी का करीबी माना जाने वाला हनुमान पांडे उर्फ राकेश पांडे लखनऊ के सरोजनी नगर इलाके में रविवार तड़के हुई मुठभेड़ में मारा गया जबकि उसके साथी भागने में कामयाब रहे।

इसे भी पढ़ें: मिशन 2022 के लिए सियासी दलों की तिकड़म, बसपा की सोशल इंजीनियरिंग और SP का परशुराम प्रेम

एसटीएफ ने एक बयान में बताया कि अपराधी पर 50,000 रुपये का इनाम घोषित था। मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से वह घायल हो गया और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। पांडे वर्ष 2005 में गाजीपुर जिले के भांवर कोल इलाके में भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के मामले में भी आरोपी था। वह बागपत जेल में मारे गए कुख्यात सरगना मुन्ना बजरंगी का भी करीबी बताया जाता था। 

इसे भी पढ़ें: बाढ़ से किसानों की फसलें चौपट, मुआवजा दे सरकार: कांग्रेस

इससे पहले, एसटीएफ के सूत्रों ने बताया कि मुखबिर ने सूचना दी थी कि कुख्यात शूटर हनुमान पांडे और उसके गिरोह के सदस्य किसी घटना को अंजाम देने के लिए इकट्ठा होने जा रहे हैं। इस पर एसटीएफ की मुख्यालय और फील्ड इकाई वाराणसी की टीम गुडंबा इलाके में पहुंची तो पता लगा कि पांडे अपने साथियों के साथ कानपुर रोड की तरफ जा रहा है। उन्होंने बताया कि हवाई अड्डे के आगे कानपुर मार्ग पर तड़के चार बजकर 20 मिनट के आसपास एक गाड़ी दिखाई दी। उसे रोकने की कोशिश की गई तो चालक ने वाहन की रफ्तार बढ़ा दी और गाड़ी में सवार लोगों ने पुलिस पर गोलियां चलाईं। हड़बड़ी में बदमाशों की गाड़ी सड़क के किनारे पेड़ से टकराकर रुक गई तभी उसमें से बाहर निकले लोग एसटीएफ पर गोली चलाने लगे। जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश की मौत हो गई जिसकी पहचान हनुमान पांडे के रूप में हुई। उन्होंने बताया की एसटीएफ को पांडे की अरसे से तलाश थी। उस पर 50,000 रुपये का इनाम घोषित था। उस पर हत्या, लूट तथा अन्य जघन्य वारदात के 12 मुकदमे दर्ज थे। पुलिस ने मुठभेड़ स्थल से दो पिस्तौल, कारतूस, दो मोबाइल फोन भी बरामद किए। एक एसयूवी भी बरामद की गयी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।