कांग्रेसी कार्यकर्ता के पैरों में गिरे सिंधिया समर्थक मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर

minister Pradyuman Singh Tomar
दिनेश शुक्ल । Oct 24, 2020 11:44PM
वीडियो में मंत्रीजी ये कहते नजर आते हैं कि तुम्हें हमारी कसम है अब किसी साथ मत जाना। अब हमारे साथ चलिए। इस वीडियो को मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अरूण यादव ने ट्वीट किया है।

भोपाल। मध्य प्रदेश उप चुनाव में हर दिन नेताओं से जुड़ा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वही शनिवार को ग्वालियर सीट से उप-चुनाव लड़ रहे भाजपा प्रत्याशी और शिवराज कैबिनेट में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर एक कांग्रेस कार्यकर्ता के कदमों में गिरते हुए दिखाई दे रहे है। वायरल वीडियो में प्रद्यम्न सिंह तोमर कांग्रेस कार्यकर्ता के घर में दिख रहे है। बताया जा रहा है कि तोमर चुनाव प्रचार पर निकले तो एक कांग्रेस कार्यकर्ता के घर जा पहुंचे। तोमर ने प्रचार में साथ चलने के लिए कार्यकर्ता के हाथ जोड़े, पैर पड़े और कसम दी कि किसी और के साथ मत जाना।

 

इसे भी पढ़ें: सरकार ने कंप्यूटर ऑपरेटरों को नौकरी से किया बाहर, कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज पर साधा निशाना

वायरल वीडियो में कांग्रेस कार्यकर्ता मंत्रीजी को रोकने की कोशिश करता है, कार्यकर्ता का बेटा भी मंत्रीजी को ऊपर उठकर बैठने की विनती करता है। पर मंत्रीजी नहीं सुनते। हाथ जोड़कर बैठे रहते हैं। वीडियो में मंत्रीजी ये कहते नजर आते हैं कि तुम्हें हमारी कसम है अब किसी साथ मत जाना। अब हमारे साथ चलिए। इस वीडियो को मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अरूण यादव ने ट्वीट किया है। जिसमें उन्होंने लिखा है कि- देखिये कैसे एक बिकाऊ मंत्री ने कांग्रेस के टिकाऊ कार्यकर्ता के आगे घुटने टेक दिए, कांग्रेस के चंद नेता बिकाऊ हो सकते है मगर कांग्रेस का प्रत्येक कार्यकर्ता टिकाऊ है। इस ट्वीट के माध्यम से अरूण यादव ने यह दावा किया है कि वीडियो में जिस व्यक्ति के पैरों में मंत्री प्रद्युम्न सिंह गिरे जा रहे है वह कांग्रेसी कार्यकर्ता है।

 

इसे भी पढ़ें: कमलनाथ मायावी हैं, ये फिर मायाजाल बिछाएंगे, इनकी माया से दूर रहना है : शिवराज सिंह चौहान

अरूण यादव के इस ट्वीट को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने रिट्वीट कर शेयर करते हुए लिखा- यही फर्क है बिकाऊ और टिकाऊ में। कांग्रेस को अपने टिकाऊ कार्यकर्ताओं और नेताओं का पूरा ख्याल रखना चाहिए। अभी तो घुटने टेके हैं। 3 नवंबर तक यह साष्टांग करेंगे। चुनाव हारने के बाद आंख दिखाएंगे।'

ग्वालियर से उप चुनाव लड़ रहे प्रद्युम्न सिंह तोमर 2018 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकिट पर जीतकर विधानसभा पहुँचे थे। लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में उन्होंने विधानसभा की सदस्यता त्याग कांग्रेस छोड़कर भाजपा की सदस्यता ले ली थी। जिसके बाद उन्हें भाजपा की शिवराज सरकार में मंत्री बना दिया गया था चूँकि वह अभी विधानसभा के सदस्य नहीं है और इनके इस्तीफे से ग्वालियर सीट खाली हो चुकी है इसलिए यहाँ उप चुनाव हो रहे है जिसमें तोमर भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में उतरे हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़