• राहुल से मिले पंजाब एकता पार्टी के नेता, कांग्रेस में विलय का किया ऐलान

अंकित सिंह Jun 17, 2021 16:45

पंजाब में फिलहाल कांग्रेस के लिए सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच लगातार टकराव के खबरें आ रही हैं। हालांकि कांग्रेस आलाकमान दोनों गुटों को मनाने में जुटा हुआ है।

नयी दिल्ली। पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ गई हैं। भले ही सत्ताधारी कांग्रेस के बीच अंतर्कलह की खबरें हैं। लेकिन पार्टी खुद को मजबूत करने के लिए क्षेत्रीय दलों के साथ लगातार संपर्क में है। पंजाब विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष सुखपाल सिंह खैरा और पंजाब एकता पार्टी के दो और विधायकों ने आज राहुल गांधी से मुलाकात की है। मुलाकात के बाद पंजाब एकता पार्टी का कांग्रेस के साथ विलय की घोषणा की गई। खैरा और दो अन्य विधायकों जगदेव सिंह और निर्मल सिंह ने राहुल गांधी से मुलाकात उनके आवास पर की। इस मौके पर कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत भी मौजूद थे।

खैरा और ये दो विधायक गत तीन जून को मुख्यमंत्री अमरिंदर की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हुए थे। ये तीनों पिछले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के टिकट पर निर्वाचित हुए थे, हालांकि बाद में पार्टी नेतृत्व से कथित टकराव के कारण तीनों को आप से बाहर कर दिया गया। इसके बाद खैरा ने पंजाब एकता पार्टी बनाई। राहुल गांधी से मुलाकात के बाद खैरा ने पार्टी में शामिल करने के लिए उनका आभार जताया। वह पहले कांग्रेस में रह चुके हैं। कांग्रेस छोड़ने के बाद, खैरा दिसंबर 2015 में आप में शामिल हो गए थे। वह 2017 में आप के टिकट पर वह भोलथ विधानसभा सीट से निर्वाचित हुए थे।

इसे भी पढ़ें: पंजाब में प्रशांत किशोर की नकल करने वाले गिरोह ने कांग्रेस नेताओं को ठगा, टिकट दिलाने का भी किया दावा !

आपको बता दें कि पंजाब में फिलहाल कांग्रेस के लिए सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच लगातार टकराव के खबरें आ रही हैं। हालांकि कांग्रेस आलाकमान दोनों गुटों को मनाने में जुटा हुआ है।