संविधान बचाओ मार्च में बोले राहुल गांधी, मोदी और गोडसे की विचारधारा एक

संविधान बचाओ मार्च में बोले राहुल गांधी, मोदी और गोडसे की विचारधारा एक

राहुल ने कहा कि नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी को गोली मार दी क्योंकि वह खुद पर विश्वास नहीं करता था, वह किसी से प्यार नहीं करता था, वह किसी की परवाह नहीं करता था, वह किसी पर विश्वास नहीं करता था और हमारे प्रधानमंत्री के साथ भी ऐसा ही है, वह केवल खुद से प्यार करते हैं।

कांग्रेस के दिग्गज नेता और लोकसभा सांसद राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड के दौरे पर हैं। राहुल ने केरल में सीएए विरोधी प्रदर्शनों के तहत वायनाड में संविधान बचाओ मार्च का नेतृत्व किया। इस रैली में केरल कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए। नागरिकता कानून को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि भारतीयों को यह साबित करने के लिए कहा जा रहा है कि वे भारतीय हैं। उन्होंने पूछा कि मैं भारतीय हूं...यह तय करने वाले नरेंद्र मोदी कौन हैं? उन्हें यह तय करने का लाइसेंस किसने दिया है कि कौन भारतीय है और कौन नहीं? इसके साथ ही एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा कि ​​नाथूराम गोडसे और नरेंद्र मोदी एक ही विचारधारा में विश्वास करते हैं, दोनों में कोई फर्क नहीं है। नरेंद्र मोदी को यह कहने की हिम्मत नहीं है कि वह गोडसे में विश्वास करते हैं।

राहुल ने कहा कि नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी को गोली मार दी क्योंकि वह खुद पर विश्वास नहीं करता था, वह किसी से प्यार नहीं करता था, वह किसी की परवाह नहीं करता था, वह किसी पर विश्वास नहीं करता था और हमारे प्रधानमंत्री के साथ भी ऐसा ही है, वह केवल खुद से प्यार करते हैं, केवल खुद पर विश्वास करते हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।