घमंडी हो गई है भारतीय विदेश सेवा! राहुल के बयान पर जयशंकर बोले- इसे अहंकार नहीं, राष्ट्रहित की रक्षा करना कहते हैं

s jaishankar
ANI
अंकित सिंह । May 21, 2022 4:18PM
राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस बात को स्वीकार किया कि हां, भारतीय विदेश सेवा बदल गई है। उन्होंने राहुल गांधी पर जबरदस्त तरीके से निशाना साधा।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लंदन में आइडियाज फॉर इंडिया सम्मेलन में अपने दिए बयानों की वजह से आज सुर्खियों में है। इसी कड़ी में राहुल गांधी ने आज भारतीय विदेश सेवा पर भी सवाल उठा दिया। राहुल गांधी ने दावा किया कि मैं यूरोप के नौकरशाहों से बात कर रहा था और उन्होंने कहा कि भारत ही सेवा पूरी तरह से बदल गई है। वह कुछ भी नहीं सुनते हैं। वे घमंडी हैं।  अब वे बस हमें बताते हैं कि उन्हें क्या आदेश मिल रहे हैं, कोई बातचीत नहीं हो रही है। इसके साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि आप ऐसा नहीं कर सकते हैं। अब इसी को लेकर भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने राहुल गांधी पर पलटवार किया है। विदेश मंत्री ने साफ तौर पर कहा कि इसे अहंकार नहीं बल्कि राष्ट्र हित की रक्षा करना कहते हैं। 

इसे भी पढ़ें: शिवराज के मंत्री का राहुल पर तंज, खाते हो भारत का और गाते हो पाकिस्तान और चीन का

एस जयशंकर का जवाब

राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस बात को स्वीकार किया कि हां, भारतीय विदेश सेवा बदल गई है। उन्होंने राहुल गांधी पर जबरदस्त तरीके से निशाना साधा। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि हां, भारतीय विदेश सेवा बदल गई है। हाँ, वे सरकार के आदेशों का पालन करते हैं। हां, वे दूसरों के तर्कों का विरोध करते हैं। इसे अहंकार नहीं बल्कि आत्मविश्वास और राष्ट्रहित की रक्षा करना कहते हैं। ब्रिटेन दौरे पर गए राहुल ने गैर-लाभकारी थिंकटैंक ‘ब्रिज इंडिया’ द्वारा शुक्रवार को आयोजित ‘आइडियाज फॉर इंडिया’ सम्मेलन में एक संवाद सत्र के दौरान यह टिप्पणी की थी।

इसे भी पढ़ें: राहुल के बयान पर भाजपा का पलटवार, गौरव भाटिया बोले- मोदी से नफरत करते-करते वो भारत के खिलाफ ही व्यक्तव्य देने लगे

यूक्रेन जैसी ही स्थिति लद्दाख में: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने दावा किया कि रूस जो यूक्रेन में कर रहा है कुछ वैसी ही स्थिति चीन ने लद्दाख में पैदा की है, लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार इस बारे में बात तक नहीं करना चाहती। राहुल गांधी ने कहा, रूसी यूक्रेन से कहते हैं कि हम आपकी क्षेत्रीय अखंडता को नहीं स्वीकारते हैं, हम यह मानने से इनकार करते हैं कि दो जिले तुम्हारे हैं..हम उन दो जिलों में हमले करने जा रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित कर सकें कि तुम उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) से गठजोड़ तोड़ दो। गांधी ने कहा, पुतिन (रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन) यही कर रहे हैं। पुतिन कह रहे हैं कि मैं इसके लिए तैयार नहीं हूं कि तुम अमेरिका के साथ गठजोड़ करो... मैं तुम पर हमला करूंगा। कांग्रेस नेता ने दावा किया, यूक्रेन में जो हो रहा है और लद्दाख में जो हो रहा है, उनकी तुलना करिये।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़