विपक्षी सांसदों के निलंबन से गुस्साए राहुल ने PM मोदी को बताया राजा, मांगा इन 10 सवालों का जवाब

Rahul Gandhi
ANI Image
कांग्रेस नेता ने प्रवर्तन निदेशालय द्वारा सोनिया गांधी से पूछताछ का विरोध कर रहे पार्टी सांसदों को हिरासत में लिए जाने तथा संसद के दोनों सदनों में महंगाई एवं जीएसटी पर चर्चा की मांग को लेकर हंगामा करने वाले 20 से अधिक सांसदों के निलंबन का हवाला दिया।

नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि महंगाई एवं बेरोजगारी जैसे जनता से जुड़े विषयों पर सवाल पूछने के कारण ‘राजा’ ने कई सांसदों को गिरफ्तार और निलंबित करवा दिया। राहुल गांधी ने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘‘मानसून सत्र में हम प्रधानमंत्री जी से जनता के मुद्दों पर चर्चा करना चाहते थे। जनता के कई सवाल थे जिनके जवाब प्रधानमंत्री और उनकी सरकार को देने थे। लेकिन उनकी तानाशाही देखिए, सवाल पूछने पर प्रधानमंत्री इतने नाराज़ हो गए कि 57 सांसदों को गिरफ़्तार करवा दिया और 23 को निलंबित।’’

इसे भी पढ़ें: राहुल-सोनिया दोनों के जवाब एक समान, सभी की जुबान पर एक ही नाम- सारे वित्तीय निर्णय मोती लाल वोरा ने लिए 

कांग्रेस नेता ने प्रवर्तन निदेशालय द्वारा सोनिया गांधी से पूछताछ का विरोध कर रहे पार्टी सांसदों को हिरासत में लिए जाने तथा संसद के दोनों सदनों में महंगाई एवं जीएसटी पर चर्चा की मांग को लेकर हंगामा करने वाले 20 से अधिक सांसदों के निलंबन का हवाला दिया। उन्होंने कहा, ‘‘ख़ैर, जो सवाल पूछने नहीं दिए जा रहे, वो यहां ‘राजा’ से पूछ रहा हूं। 45 वर्षों में आज सबसे ज़्यादा बेरोज़गारी क्यों है? हर साल 2 करोड़ रोज़गार देने के वादे का क्या हुआ? जनता के रोज़मर्रा के खाने-पीने की चीज़ों जैसे दही-अनाज पर जीएसटी लगा कर, उनसे दो वक़्त की रोटी क्यों छीन रहे हैं? खाने का तेल, पेट्रोल-डीज़ल और सिलेंडर के दाम आसमान छू रहे हैं, जनता को राहत कब मिलेगी?’’

उन्होंने यह सवाल भी किया, ‘‘डॉलर के मुकाबले रूपये की कीमत 80 पार क्यों हो गई? सेना में 2 सालों से एक भी भर्ती नहीं करके, सरकार अब अग्निपथ योजना लायी है, युवाओं को 4 साल के ठेके पर अग्निवीर बनने पर मजबूर क्यों किया जा रहा है? लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में चीन की सेना, हमारी सीमा में घुस चुकी है, आप चुप क्यों हैं और आप क्या कर रहे हैं?’’ राहुल गांधी ने पूछा, ‘‘फसल बीमा से बीमा कंपनियों को 40,000 रुपये करोड़ का फायदा करवा दिया, मगर 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के अपने वादे पर चुप, क्यों? किसान को सही एमएसपी के वादे का क्या हुआ? और किसान आंदोलन में शहीद हुए किसानों के परिवारों को मुआवज़ा मिलने का क्या हुआ?’’

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार पर बरसे हिरासत में लिए गए राहुल गांधी, बोले- देश के राजा का हुक्म है, जो सवाल पूछे उसे कारागृह में डाल दो 

उन्होंने सवाल किया, ‘‘वरिष्ठ नागरिकों के रेल टिकट में मिलने वाली 50 प्रतिशत छूट को बंद क्यों किया? जब अपने प्रचार पर इतना पैसा खर्च कर सकते हैं तो, बुज़ुर्गों को छूट देने के लिए पैसे क्यों नहीं हैं? केंद्र सरकार पर 2014 में 56 लाख करोड़ रुपये कर्ज़ था, वो अब बढ़ कर 139 लाख करोड़ रुपये हो गया है, और मार्च 2023 तक 156 लाख करोड़ रुपये हो जाएगा, आपदेश को कर्ज़ में क्यों डुबो रहे हैं?’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘सवालों की सूची बहुत लंबी है, लेकिन पहले प्रधानमंत्री जी मेरे इन 10 सवालों का जवाब दे दें। कांग्रेस पार्टी को डराने-धमकाने से आपकी जवाबदेही ख़त्म नहीं हो जाएगी, हम जनता की आवाज़ हैं और उनके मुद्दे उठाते रहेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़