• भोपाल में फर्जी टीसी के कारनामों से रेलवे हुआ हैरान , पैसे उड़ाते हुए वीडियो हुआ सोशल मीडिया पर वायरल

सुयश भट्ट Sep 14, 2021 12:09

भोपाल रेलवे स्टेशन पर पकड़े जाने के बाद वह कान पकड़े और रोते नजर आया। आरोपी का सोशल मीडिया पर लाखों के नोट उड़ाने के कई वीडियो भी हैं। उसने घर पर भी सभी को बताया था कि उसके रेलवे में नौकरी लग गई है।

भोपाल। राजधानी भोपाल में रेलवे की यूनीफार्म में पकड़ा गया 26 साल का फर्जी टीसी के कारनामों को देखकर हैरान हो गया है। वह बीते 6 महीने से वर्दी पहनकर इटारसी से लेकर भोपाल तक में उगाही कर रहा था। वायरलेस सेट लेकर स्टेशन और ट्रेन में सफर करता था।

इसे भी पढ़ें:MP में छात्रों को पढ़ाया जाएगा रामायण, रामचरित मानस और महाभारत का पाठ, कांग्रेस ने कहा- सभी धर्मों के ग्रंथों को पढ़ाएं 

दरअसल भोपाल रेलवे स्टेशन पर पकड़े जाने के बाद वह कान पकड़े और रोते नजर आया। आरोपी का सोशल मीडिया पर लाखों के नोट उड़ाने के कई वीडियो भी हैं। उसने घर पर भी सभी को बताया था कि उसके रेलवे में नौकरी लग गई है। फिलहाल लेकिन अब तक कोई सख्त कार्यवाही नहीं हुई है।

आपको बता दें कि टीआई जीआरपी भोपाल दिनेश सिंह चौहान ने कहा कि 4 दिन पहले उसे रेलवे के अधिकारियों ने पकड़ा था। वे रेलवे की यूनीफॉर्म और वायरलेस सेट लिए थे। रेलव अधिकारियों ने पूछताछ के बाद उसे आरपीएफ को सौंप दिया। आरपीएफ ने पूछताछ के बाद उसे जीआरपी के हवाले किया था।

इसे भी पढ़ें:जबलपुर में अब नहीं होगा कूलर का इस्तेमाल, नगर पालिका निगम कमिश्नर में किया आदेश जारी 

वहीं आरोपी के पिता पहले कपड़ा मिल में काम करते थे, लेकिन नौकरी छूट जाने के कारण वे सुरक्षा गार्ड की नौकरी करने लगे। वहीं उसकी मां भी प्राइवेट जॉब करती हैं। उसकी भी नौकरी छूट गई थी। जिसके बाद उसे इटारसी में एक ट्रेन के इंजन में एक वायरलेस सेट मिला था। उसे टीसी बनने का शौक था, इसलिए वह टीवी बनकर घूमने लगा।

हालांकि रेलवे का कहना है कि किसी भी वायरलेस सेट चोरी होने की जानकारी नहीं है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ शासकीय संपती का अपने लिए उपयोग करने वाली धाराओं में मामला दर्ज किया। वहीं अपराध में 3 साल तक की सजा होने के कारण जीआरपी ने प्रारंभिक कार्रवाई के बाद उसे छोड़ दिया है।