राज्यसभा सांसद विवेक तंखा की मांग त्रिकटु काढ़े की सीएजी करे जाँच

राज्यसभा सांसद विवेक तंखा की मांग त्रिकटु काढ़े की सीएजी करे जाँच

गौरतलब है कि कांग्रेस विधायक पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने विधानसभा में आयुर्वेदिक त्रिकटु काढ़े को लेकर सवाल उठाया गया था। जिस पर लिखित जवाब में आयुष राज्यमंत्री रामकिशोर कावरे द्वारा कहा गया है कि मध्य प्रदेश में 30 नवंबर 2020 तक 30 करोड़ रुपयों का काढ़ा जनता में बांटा गया।

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोनाकाल के दौरान सरकार द्वारा बांटे गए आयुर्वेदिक काढ़े को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने मध्य प्रदेश में 30 करोड़ रुपयों का काढ़ा बांटे जाने पर सवाल उठाते हुए इसकी जांच सीएजी से करवाए जाने की मांग की है।

 

इसे भी पढ़ें: विश्व कप तलवारबाजी में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करेंगी मध्य प्रदेश की खुशी दाभाडे़

दरअसल विवेक तन्खा ने शुक्रवार को ट्वीट कर इतने बड़े खर्च का सीएजी ऑडिट करवाने की मांग की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा आपदा में भी अवसर। मप्र में 30 करोड़ रुपए का काढ़ा सरकार ने कोरोना काल में वितरित किया। 50 ग्राम के पैकेट्स में। किसको मिला यह शोध का विषय बन गया है। क्या सीएजी का ऑडिट का विषय नहीं हैं। कोविद कार्यकाल को पूरा फ़ायदा उठाया शासन एवं प्रशासन !!

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के किस शहर का नाम होगा भेरूंदा, जाने मुख्यमंत्री ने की है घोषणा

गौरतलब है कि कांग्रेस विधायक पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने विधानसभा में आयुर्वेदिक त्रिकटु काढ़े को लेकर सवाल उठाया गया था। जिस पर लिखित जवाब में आयुष राज्यमंत्री रामकिशोर कावरे द्वारा कहा गया है कि मध्य प्रदेश में 30 नवंबर 2020 तक 30 करोड़ रुपयों का काढ़ा जनता में बांटा गया। अब विवेक तन्खा ने इसके पीछे घोटाले की आशंका जताते हुए जांच की मांग की है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।