मोदी के नेतृत्व के बिना राम मंदिर मामले का निपटारा और CAA नहीं था संभव: अनुराग ठाकुर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 27, 2020   19:25
मोदी के नेतृत्व के बिना राम मंदिर मामले का निपटारा और CAA नहीं था संभव: अनुराग ठाकुर

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री ने उत्तराखंड भाजपा युवा मोर्चे की एक डिजिटल रैली को संबोधित करते हुए कहा कि भारत ने मोदी के नेतृत्व में कोरोना वायरस के खिलाफ प्रभावी तरीके से लड़ाई लड़ी है।

देहरादून। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने शनिवार को कहा कि राम मंदिर मामले का निपटारा और संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मजबूत नेतृत्व के बगैर संभव नहीं था। ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यकाल में बड़े और ऐतिहासिक फैसले लिए हैं। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री ने उत्तराखंड भाजपा युवा मोर्चे की एक डिजिटल रैली को संबोधित करते हुए कहा कि भारत ने मोदी के नेतृत्व में कोरोना वायरस के खिलाफ प्रभावी तरीके से लड़ाई लड़ी है। युवा मोर्चा भाजपा की युवा इकाई है। डिजिटल रैली के दौरान उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भाजपा युवा मोर्चा को पार्टी का ‘ऊर्जा घर’ बताया। 

इसे भी पढ़ें: कानपुर शेल्टर होम मामले में योगी सरकार सख्त, जिला प्रोबेशन अधिकारी और अधीक्षिका को किया निलंबित 

उन्होंने कहा कि भाजपा युवा मोर्च के कार्यकर्ताओं ने प्रशासन के साथ मिलकर कोविड-19 महामारी के दौरान जरूरतमंद लोगों को राहत सामग्री पहुंचाने का प्रशंसनीय काम किया और उन्होंने इस बीमारी के बारे में जागरूकता भी फैलाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने 2017 में विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी के विजन डॉक्यूमेंट (आगे के लिए किए जाने वाले कामों के वादे) में से 85 फीसदी वादों को पूरा कर दिया। रावत ने कहा, ‘‘ गैरसैंण को लोगों की उम्मीदों के अनुसार ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाई गई और भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ी कार्रवाई शुरू हुई।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार उत्तराखंड के विभिन्न कोविड केंद्रों में 19,000 बिस्तरों के साथ इस महामारी से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।