राष्ट्रपत्नी विवाद को लेकर भाजपा ने कांग्रेस को बताया आदिवासी विरोधी, कहा- सोनिया गांधी को मांगनी चाहिए माफी

Kiren Rijiju
ANI Image
भाजपा नेता डॉ. भारती प्रवीण पवार ने कहा कि आज फिर एक बार कांग्रेस की आदिवासी विरोधी और महिला विरोधी मानसिकता सामने आई है। अधीर रंजन चौधरी द्वारा देश की प्रथम आदिवासी महिला राष्ट्रपति के प्रति अपमानजनक टिप्पणी की गई है। इससे हमारे देश, संविधान, महिलाओं और जनजातीय समाज की गरिमा को ठेस पहुंची है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) हमलवार है। भाजपा ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पर आदिवासी विरोधी होने का आरोप लगाया। केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा कि संविधान सभा में जो तय हो चुका है, जिस पर बहस नहीं होनी चाहिए। ऐसे मुद्दे से फिर से छेड़छाड़ की गई। लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने भारत के सबसे ऊंचे और सबसे पवित्र राष्ट्रपति पद को लेकर जो टिप्पणी की है, उससे हम बहुत आहत हैं।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपत्नी बोलने पर अधीर रंजन की बढ़ी मुश्किलें, NCW ने भेजा नोटिस, आपत्तिजनक बयान के लिए 3 अगस्त को पेश होने के लिए कहा

उन्होंने कहा कि अधीर रंजन चौधरी ने जिस तरह से राष्ट्रपति जी को संबोधित किया, उसकी हम घोर निंदा करते हैं। पहली बार आदिवासी महिला इस देश की राष्ट्रपति बनी है। जिस दिन उनके नाम की घोषणा की गई, उसी दिन से कांग्रेस की टिप्पणियां सामने आने लगी। उन्होंने कहा कि उसी दिन कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा द्वारा राष्ट्रपति उम्मीदवार का चयन भारत के बहुत बुरे दर्शन का प्रतिनिधित्व करता है। उसके बाद भी एक के बाद एक बयान आते गए। लेकिन जब वो राष्ट्रपति पद पर बैठ गई, उसके बाद तो कोई टिप्पणी आनी ही नहीं चाहिए।

किरेन रिजिजू ने कहा कि आज हमनें मीडिया में सुना कि अधीर रंजन चौधरी इसे छोटी बात बता रहे थे। इस तरह की हल्की टिप्पणी करके राष्ट्रपति की गरिमा को उन्होंने जो चोट पहुंचाई है, उसके लिए अधीर रंजन चौधरी और पूरी कांग्रेस पार्टी एवं उनकी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए।

सोनिया गांधी मांगें माफी

सी बीच भाजपा नेता डॉ. भारती प्रवीण पवार ने कहा कि आज फिर एक बार कांग्रेस की आदिवासी विरोधी और महिला विरोधी मानसिकता सामने आई है। अधीर रंजन चौधरी द्वारा देश की प्रथम आदिवासी महिला राष्ट्रपति के प्रति अपमानजनक टिप्पणी की गई है। इससे हमारे देश, संविधान, महिलाओं और जनजातीय समाज की गरिमा को ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस से कहना चाहती हूं कि क्या हमारे देश में आदिवासियों को कोई अधिकार नहीं है। इस तरह से अपमान करने वालों से हम कहना चाहते हैं कि राष्ट्रपति पद की गरिमा का ध्यान रखो। इस कृत्य के लिए सोनिया गांधी जी को ही माफी मांगनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: कभी PM को बताया घुसपैठिया तो कभी कश्मीर पर दिया विवादित बयान, अपनी बातों से पार्टी की फजीहत कराना अधीर रंजन की सबसे पसंदीदा गलती है 

अधीर रंजन ने मांगी माफी

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर आपत्तिजनक बयान मामले में अधीर रंजन ने माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि मेरे जुबान से गलती से राष्ट्रपत्नि निकला, मैंने अपनी गलती स्वीकारी...वे चुनाव के दौरान सोनिया गांधी के बारे में क्या कहते हैं? शशि थरूर की पत्नी और रेणुका चौधरी के बारे में क्या कहा? मैंने राष्ट्रपति से समय मांगा, मैं उनसे बात कर माफी मांगूंगा।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़