ट्रैक्टर रैली में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन दर्शाएंगी झांकियां, 2500 स्वयंसेवकों को किया गया तैनात

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 24, 2021   17:50
  • Like
ट्रैक्टर रैली में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन दर्शाएंगी झांकियां, 2500 स्वयंसेवकों को किया गया तैनात

किसान नेता ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए 2,500 स्वयंसेवकों को तैनात किया गया है कि परेड शांतिपूर्ण रहे और कोई अप्रिय घटना न हो। स्वयंसेवकों को बैज और पहचान पत्र दिए गए हैं।

नयी दिल्ली। आंदोलनकारी किसानों की ‘गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर परेड’ में विभिन्न राज्यों की कई झांकियां होंगी जो ग्रामीण जीवन, केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के साथ ही आंदोलनकारियों केसाहस को दर्शाएंगी। यह जानकारी आयोजकों ने दी। एक किसान नेता ने पीटीआई-को बताया कि प्रदर्शन में शामिल होने वाले सभी संगठनों को परेड के लिए झांकी तैयार करने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘देशभर से लगभग एक लाख ट्रैक्टर-ट्रॉलियां परेड में शामिल होंगी। इनमें से लगभग 30 प्रतिशत पर विभिन्न विषयों पर झांकी होगी, जिसमें भारत में किसान आंदोलन का इतिहास, महिला किसानों की भूमिका और विभिन्न राज्यों में खेती के अपनाये जाने वाले तरीके शामिल होंगे।’’ 

इसे भी पढ़ें: कमलनाथ का शिवराज सरकार पर आरोप, कहा- किसानों की आवाज दबाने का कर रही प्रयास 

महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के कुछ बच्चों ने किसानों की आत्महत्या पर एक झांकी की योजना बनाई है। स्वराज इंडिया के एक सदस्य ने कहा, ‘‘आत्महत्या करने वाले किसानों के बच्चों के परेड में हिस्सा लेने की उम्मीद है। उनकी झांकी में उस क्षेत्र के किसानों के सामने आने वाली कठिनाइयों को दर्शाया जाएगा जिसे पानी की कमी का सामना करना पड़ता है।’’ हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर और उत्तराखंड जैसे राज्यों की झांकी से पता चलेगा कि पहाड़ी क्षेत्रों में फलों और सब्जियों की खेती कैसे की जाती है। पंजाब और हरियाणा के प्रतिभागी पारंपरिक और आधुनिक कृषि तकनीक और महिलाओं द्वारा गाय का दूध निकालने और किसानों द्वारा बैलगाड़ी चलाने का प्रदर्शन करेंगे। प्रत्येक ट्रैक्टर पर तिरंगा लगा होगा और लोक संगीत एवं देशभक्ति के गीत बजाये जाएंगे।

प्रदर्शनकारी किसान यूनियनों के संयुक्त मोर्चे ‘संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) के एक सदस्य ने कहा कि परेड की शुरुआत दिल्ली के पांच सीमा बिंदुओं - सिंघू, टिकरी, गाजीपुर, पलवल और शाहजहांपुर से होने की संभावना है - जहां किसान पिछले साल 28 नवंबर से डेरा डाले हुए हैं। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर परेड राजपथ पर आधिकारिक गणतंत्र दिवस परेड की समाप्ति के बाद शुरू होगी और शाम 6 बजे के करीब समाप्त होने से पहले 100 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करेगी। एसकेएम सदस्य ने कहा कि परेड के दौरान प्रभावी समन्वय सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक विरोध स्थल पर एक कक्ष स्थापित किया गया है। इन प्रत्येक कक्षों में डॉक्टर, सुरक्षाकर्मी और सोशल मीडिया प्रबंधकों सहित 40 सदस्य होंगे। किसी भी चिकित्सा आपात स्थिति से निपटने के लिए मार्ग के किनारे लगभग 40 एम्बुलेंस तैनात रहेंगी। 

इसे भी पढ़ें: किसान नेता राकेश टिकैत का दावा, 26 जनवरी की रैली में UP और UK से लगभग 25,000 ट्रैक्टर लेंगे हिस्सा 

एक अन्य किसान नेता ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए 2,500 स्वयंसेवकों को तैनात किया गया है कि परेड शांतिपूर्ण रहे और कोई अप्रिय घटना न हो। स्वयंसेवकों को बैज और पहचान पत्र दिए गए हैं। विरोध प्रदर्शन में भाग लेने वाले पूर्व सैनिकों की एक टीम भी सुरक्षा स्थिति पर नजर रखेगी। किसानों को राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने देने के लिए दिल्ली पुलिस ने सिंघू और टिकरी बार्डर से बैरिकेड हटाने पर सहमति व्यक्त की है। किसान नेताओं ने कहा कि ट्रैक्टर परेड शांतिपूर्ण रहेगी और किसी भी तरह से आधिकारिक गणतंत्र दिवस परेड को प्रभावित नहीं करेगी। केंद्र द्वारा तीन कृषि कानूनों को कृषि क्षेत्र में बड़े सुधारों के रूप में पेश किया गया है, जो बिचौलियों को दूर करेगा और किसानों को देश में कहीं भी अपनी उपज बेचने की अनुमति देगा। हालांकि, प्रदर्शनकारी किसानों ने यह आशंका व्यक्त की है कि नए कानून न्यूनतम समर्थन मूल्य और मंडी व्यवस्था को समाप्त करने का मार्ग प्रशस्त करेंगे और उन्हें बड़े कॉर्पोरेट की दया पर छोड़ देंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


नाबालिग लड़की के साथ परिचित युवक ने खंडहर में बंधक बनाकर किया बलात्कार, आरोपी गिरफ्तार

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 2, 2021   23:43
  • Like
नाबालिग लड़की के साथ परिचित युवक ने खंडहर में बंधक बनाकर किया बलात्कार, आरोपी गिरफ्तार

थाना प्रभारी खमरिया निरूपा पाण्डेय ने बताया कि क्षेत्र में रहने वाली 14 वर्षीय नाबालिग दसवीं कक्षा में अध्ययनरत है, जो पिछले दिनो 25 फरवरी 21 को शाम 6:30 बजे चकरघटा मंदिर के समीप स्थित ग्राउंड में अपनी सहेलियों के साथ खेल रही थी। इस दौरान ग्राम घाना खमरिया निवासी अंकित श्रीवास्तव उम्र 25 वर्ष नामक युवक आया और छात्रा को बात करने के बहाने बुलाया।

जबलपुर। मध्य प्रदेश में जबलपुर के खमरिया थानांतर्गत गोकुल नगर के खंडहरनुमा मकान में दसवीं कक्षा की नाबालिग छात्रा को बंधक बनाकर युवक ने रात भर दुराचार किया। वही नाबालिग की हालत बिगड़ने पर जान से मारने की धमकी देते हुए  आरोपी युवक वहाँ से भाग गया। दहशतजदा छात्रा ने मंगलवार को परिजनों के साथ थाने पहुंचकर पुलिस को घटना की जानकारी दी। जिस पर पुलिस ने पॉस्को एक्ट एवं बलात्कार का प्रकरण दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

 

इसे भी पढ़ें: नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप-2021 में मध्य प्रदेश सीहोर के खिलाड़ियों का जलवा

थाना प्रभारी खमरिया निरूपा पाण्डेय ने बताया कि क्षेत्र में रहने वाली 14 वर्षीय नाबालिग दसवीं कक्षा में अध्ययनरत है, जो पिछले दिनो 25 फरवरी 21 को शाम 6:30 बजे चकरघटा मंदिर के समीप स्थित ग्राउंड में अपनी सहेलियों के साथ खेल रही थी। इस दौरान ग्राम घाना खमरिया निवासी अंकित श्रीवास्तव उम्र 25 वर्ष नामक युवक आया और छात्रा को बात करने के बहाने बुलाया। परिचित होने के कारण छात्रा भी चली गई। बातचीत करते हुए वह छात्रा को घुमाने के बहाने नहर के पास गोकुल नगर के एक खंडहरनुमा मकान में ले गया। जहां पर छात्रा के साथ अश्लील हरकतें करने लगा। अंकित के इरादे देख छात्रा ने भागने की कोशिश की तो उसे रात भर बंधक बनाकर बलात्कार किया और दूसरे दिन सुबह बताने पर जान से मारने की धमकी देते हुए भाग निकला।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश से एकमात्र महिला उद्यमी 'मैरीटाइम इंडिया समिट में हुईं शामिल, प्रधानमंत्री ने किया शुभारंभ

इधर छात्रा के रात भर घर न आने से परिजन परेशान हो गए। जिन्होंने अपने स्तर पर तलाश शुरु कर दी। सुबह नाबालिग छात्रा घर आई और रोते हुए परिजनों को अंकित द्वारा किए गए कृत्य के बारे में बताया। इसके बाद परिजनों की मदद से थाने पहुंचकर छात्रा ने पुलिस को घटनाक्रम की पूरी जानकारी दी। पुलिस ने अंकित श्रीवास्तव के खिलाफ बंधक बनाने, अगवा करने, रेप करने और पॉक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप-2021 में मध्य प्रदेश सीहोर के खिलाड़ियों का जलवा

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 2, 2021   23:23
  • Like
नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप-2021 में मध्य प्रदेश सीहोर के खिलाड़ियों का जलवा

तो वही बालिका वर्ग में सीनियर वर्ग में 60 किलोग्राम में रेखा कुशवाहा गोल्ड मेडल, जूनियर बालिका वर्ग में 52 किलोग्राम में महक लोधी गोल्ड मेडल, जूनियर बालिका 40 किलोग्राम वजन वर्ग में काजल असाटिया ने ब्रॉन्ज मेडल जीते।

सीहोर। मध्य प्रदेश के सीहोर जिला बॉक्सिंग एसोसिएशन के सभी युवा बॉक्सरों ने हरियाणा के भवानी खेड़ा में हुई तीसरी नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप-2021 में 25 फरवरी से 28 फरवरी को आयोजित प्रतियोगिता में सीहोर के युवा बॉक्सरों ने अपना जलवा दिखाया और जिला बॉक्सिंग एसोसिएशन के सभी युवा बॉक्सरों ने अपने-अपने वजन वर्ग में मेडल जीते।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश से एकमात्र महिला उद्यमी 'मैरीटाइम इंडिया समिट में हुईं शामिल, प्रधानमंत्री ने किया शुभारंभ

सीनियर वर्ग में 68 किलोग्राम में आनंद पंसोरिया (कैप्टन) ने गोल्ड मेडल, सीनियर वर्ग में 64 किलोग्राम लखन लाल वर्मा सिल्वर मेडल, 64 किलोग्राम में सीनियर वर्ग में विकास दास ब्रॉन्ज मेडल, 58 किलोग्राम वजन वर्ग सीनियर में यश सूर्यवंशी सिल्वर मेडल, 54 किलोग्राम में सीनियर वर्ग में धीरज सेन ब्रॉन्ज मेडल, जूनियर वर्ग में वंश सूर्यवंशी 46 किलोग्राम ब्रॉन्ज मैडल जीते है।

इसे भी पढ़ें: आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश की नींव रखेगा प्रदेश सरकार का बजट- विष्णुदत्त शर्मा

तो वही बालिका वर्ग में सीनियर वर्ग में 60 किलोग्राम में रेखा कुशवाहा गोल्ड मेडल, जूनियर बालिका वर्ग में 52 किलोग्राम में महक लोधी गोल्ड मेडल, जूनियर बालिका 40 किलोग्राम वजन वर्ग में काजल असाटिया ने ब्रॉन्ज मेडल जीते। सभी बॉक्सरों को बधाई देने वालो में सीहोर के सभी खेल संघों ने युवा खिलाड़ियों को बधाई देते हुए सभी खिलाडिय़ों के उज्जवल भविष्य की कामना की है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


मध्य प्रदेश से एकमात्र महिला उद्यमी 'मैरीटाइम इंडिया समिट में हुईं शामिल, प्रधानमंत्री ने किया शुभारंभ

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 2, 2021   22:57
  • Like
मध्य प्रदेश से एकमात्र महिला उद्यमी 'मैरीटाइम इंडिया समिट में हुईं शामिल, प्रधानमंत्री ने किया शुभारंभ

मध्य प्रदेश से एकमात्र महिला उद्यमी सिवनी जिले की दीपमाला को इसमें शामिल होने का अवसर मिला है, जो प्रदेश के लिए गर्व का विषय है। गौरतलब है कि, दीपमाला स्वयं के बैटरी निर्माण उद्योग से जुड़ी हुईं हैं और उन्होंने हाल ही में भारत-अमेरिका के बीच हुई अंतरराष्ट्रीय स्तर की व्यापारिक परिचर्चा में हिस्सा लेकर मप्र का प्रतिनिधित्व किया था।

सिवनी। पोर्ट इंडिया, नौवहन और जलमार्ग मंत्रालय द्वारा आयोजित मैरीटाइम इंडिया समिट में सिवनी जिले की महिला उद्यमी दीपमाला नंदन ने हिस्सा लिया। 2 मार्च से 4 मार्च तक वर्चुअल प्लेटफार्म पर चलने वाले इस समिट का शुभारंभ वीडियो कॉन्फसिंग के जरिए मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। इस दौरान उन्होंने सागर मंथन- मर्केटाइल मैरीटाइम डोमेन अवेयरनेस सेंटर का शुभारंभ किया और ई-बुक मैरीटाइम इंडिया विजन-2030 जारी किया। इस समुद्री शिखर सम्मेलन में डेनमार्क ने एक साझेदार देश के रूप में हिस्सा लिया है। यह समिट अगले दशक के लिए समुद्री क्षेत्रों में भारत की रूपरेखा तैयार करते हुए वैश्विक समुद्री क्षेत्र में भारतीय शक्ति का विस्तार करने का काम करेगा।

 

इसे भी पढ़ें: आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश की नींव रखेगा प्रदेश सरकार का बजट- विष्णुदत्त शर्मा

मैरीटाइम इंडिया समिट में तीन दिन तक समुद्र तट से लगे 50 से अधिक देशों के 1 लाख से अधिक प्रतिनिधि और व्यापार जगत से जुड़े उद्यमी शामिल हो रहे हैं, जिसमें भारत में समुद्री क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने के लिए कई देशों के सीईओ और राजदूत भी शामिल हैं। समिट में भारत की समुद्री सीमा से सटे राज्यों को प्रमुखता से शामिल किया गया है। वही मध्य प्रदेश से एकमात्र महिला उद्यमी सिवनी जिले की दीपमाला को इसमें शामिल होने का अवसर मिला है, जो प्रदेश के लिए गर्व का विषय है। गौरतलब है कि, दीपमाला स्वयं के बैटरी निर्माण उद्योग से जुड़ी हुईं हैं और उन्होंने हाल ही में भारत-अमेरिका के बीच हुई अंतरराष्ट्रीय स्तर की व्यापारिक परिचर्चा में हिस्सा लेकर मध्य प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept