जहांगीरपुरी में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की जा रही है: दिल्ली पुलिस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2022   14:29
जहांगीरपुरी में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की जा रही है: दिल्ली पुलिस
ani

दिल्ली पुलिस का कहना है कि दंगा प्रभावित जहांगीरपुरी में सुरक्षा उपायों की समीक्षा की जा रही है और मौजूदा स्थिति के अनुसार बलों की और तैनाती पर निर्णय लिया जाएगा। सामान्य स्थिति बहाल करने की कोशिश में हिंदू और मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जहांगीरपुरी सी ब्लॉक में तिरंगा यात्रा निकाली और शांति और सद्भाव का संदेश दिया।

नयी दिल्ली। दिल्ली पुलिस का कहना है कि दंगा प्रभावित जहांगीरपुरी में सुरक्षा उपायों की समीक्षा की जा रही है और मौजूदा स्थिति के अनुसार बलों की और तैनाती पर निर्णय लिया जाएगा। सामान्य स्थिति बहाल करने की कोशिश में हिंदू और मुस्लिम समुदाय के लोगों ने रविवार को जहांगीरपुरी सी ब्लॉक में तिरंगा यात्रा निकाली और शांति और सद्भाव का संदेश दिया। इसी ब्लॉक में 16 अप्रैल को हिंसा हुई थी। रैली निकालने में दिल्ली पुलिस ने मदद की जिसने इलाके में बड़ी संख्या में सुरक्षा कर्मी तैनात किए हुए हैं। इसने दो समुदायों के लगभग 50 लोगों को रैली में हिस्सा लेने की अनुमति दी।

इसे भी पढ़ें: गुजरात ATS ने पकड़ी पाकिस्तानी बोट, 280 करोड़ रुपये की हेरोइन जब्त, जानिए पूरा मामला

यात्रा के एक दिन बाद, उत्तर पश्चिम दिल्ली की पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) उषा रंगनानी ने कहा, मौजूदा स्थिति के आधार पर सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की जा रही है और इसके मुताबिक, हम निर्णय लेंगे और जरूरी व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा, “फिलहाल, इलाके में उपयुक्त और पर्याप्त सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं।” पुलिस ने कहा, “उत्तर पश्चिमी दिल्ली में जहांगीरपुरी के हिंसा प्रभावित इलाकों में दंगा रोधी बल सहित बड़ी संख्या में सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है।” पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, क्षेत्र में 24 घंटे 500 से अधिक पुलिस कर्मियों और अतिरिक्त बल की छह कंपनियों को तैनात किया गया है। अधिकारी ने बताया, “आंसू गैस से लैस और पानी की बौछार करने वाले कुल 80 दलों को तैनात रखा गया है।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र का दौरा करेगी CISF की विशेष टीम? अमरावती सांसद नवनीत राणा ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को लिखा पत्र

संवेदनशील इलाकों में छतों पर निगरानी रखने के लिए ड्रोन का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। सभी वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे मौके पर रहें ताकि किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके।” पुलिस के मुताबिक, जहांगीरपुरी के अलावा अन्य संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त संख्या में बल तैनात किए गए हैं। जहांगीरपुरी इलाके में 16 अप्रैल को हनुमान जयंती शोभायात्रा के दौरान दो समुदायों के बीच संघर्ष हो गया था जिसमें आठ पुलिस कर्मी और एक स्थानीय शख्स जख्मी हो गया था। 17 अप्रैल से ही सी ब्लॉक में भारी पुलिस बल तैनात है। पुलिस के मुताबिक, संघर्ष के दौरान पथराव और आगज़नी की घटनाएं हुई थी और गाड़ियों को भी जला दिया गया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।