गुजरात ATS ने पकड़ी पाकिस्तानी बोट, 280 करोड़ रुपये की हेरोइन जब्त, जानिए पूरा मामला

गुजरात ATS ने पकड़ी पाकिस्तानी बोट, 280 करोड़ रुपये की हेरोइन जब्त,  जानिए पूरा मामला
Creative Common

खुफिया सूचनाओं के आधार पर तटरक्षक बल और एटीएस ने भारतीय जल सीमा में प्रवेश करने वाली 'अल हज' नाव को रोक लिया। नाव ने नशीले पदार्थों के कई पैकेट समुद्र में फेंक कर पाकिस्तान की ओर वापस से भागने का प्रयास किया गया। लेकिन सुरक्षाबलों की मुस्तैदी से पैकेट बरामद कर लिए गए।

भारतीय तटरक्षक बल (आईसीजी) और गुजरात आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) ने रविवार की रात नौ चालक दल के सदस्यों के साथ एक पाकिस्तानी मछली पकड़ने वाली नाव को पकड़ा है। रविवार रात को पकड़ी गई नाव से अनिर्दिष्ट मात्रा में नशीला पदार्थ बरामद किया गया है। खुफिया सूचनाओं के आधार पर तटरक्षक बल और एटीएस ने भारतीय जल सीमा में प्रवेश करने वाली 'अल हज' नाव को रोक लिया। नाव ने नशीले पदार्थों के कई पैकेट समुद्र में फेंक कर पाकिस्तान की ओर वापस से भागने का प्रयास किया गया। लेकिन सुरक्षाबलों की मुस्तैदी से पैकेट बरामद कर लिए गए।

इसे भी पढ़ें: एक किसान से राजनेता बने नारनभाई कच्छड़िया, कृषि अनुसंधान में रखते है काफी रुचि

इंडिया कोस्ट गार्ड ने नाव ने पाकिस्तानी पोत का पीछा करना शुरू कर दिया। पाकिस्तानी मछली पकड़ने वाली नाव तेज स्पीड से चलने में सक्षम थी, जिसके बाद तटरक्षक जहाज को इसे भागने से रोकने के लिए फायरिंग का सहारा लेना पड़ा। पाकिस्तानी पोत का एक चालक दल का सदस्य घायल हो गया, जबकि दो अन्य को मामूली चोटें आईं। इसके आज दोपहर तीन बजे तक गुजरात के जखाउ बंदरगाह पहुंचने की उम्मीद है।

इसे भी पढ़ें: गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा झटका, पूर्व विधायक मणिलाल वाघेला भाजपा में हुए शामिल

गुजरात के गृह मंत्री का ट्वीट

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष सांघवी ने इसे लेकर ट्वीट करते हुए कहा, 'ये पाकिस्तान के ड्रग्स नेटवर्क पर गुजरात पुलिस (एटीएस), कोस्ट गार्ड, एनसीबी की “दरियाई स्ट्राइक “ है, जितने भेजोगे उतने पकड़ेंगे, वेलकम टू गुजरात जेल… पूरी ज़िंदगी गुजारों काल कोठरी में। पाकिस्तानी ड्रग्स माफ़ियाओं की हर चाल पर बाज़ नज़र रख कर उसे गुजरात की सीमा में घुसने से पहले ही पकड़ लेती गुजरात एटीएस, कोस्टगार्ड और केंद्रीय एजेन्सी संबंधित एंजेसियों को ह्रदय से अभिनंदन।'





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...