महाराष्ट्र का दौरा करेगी CISF की विशेष टीम? अमरावती सांसद नवनीत राणा ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को लिखा पत्र

महाराष्ट्र का दौरा करेगी CISF की विशेष टीम? अमरावती सांसद नवनीत राणा ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को लिखा पत्र
ANI

अमरावती सांसद नवनीत राणा ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि ये मेरा ईमानदार और सच्चा विश्वास है कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में शिवसेना अपने स्पष्ट हिंदुत्व सिद्धांतों से पूरी तरह से भटक गई है।

महाराष्ट्र का सियासी घमासान लाउडस्पीकर, अजान, हनुमान चालीसा से होते हुए गिरफ्तारी और देशद्रोह की धाराओं में आ गया है। आरोप-प्रत्यारोप दोनों ओर से लगाए जा रहे हैं। एक तरफ शिवसेना ने हनुमान चालीसा पाठ को लेकर राणा दंपत्ति के तेवरों पर कड़ा रूख अख्तियार कर रखा है। वहीं बीजेपी राज्य की सरकार पर हमलावर है। शिवसेना ने आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार को हटाने की अपनी हताशा में 'हनुमान चालीसा' विवाद को अंजाम दे रही है। शिवसेना का कहना है कि हिंदुत्व के नाम पर भाजपा द्वारा हाल ही में किए गए हंगामे का समर्थन नहीं किया जा सकता...इसके (विवाद) के पीछे भाजपा का हाथ है। वहीं लाउडस्पीकर हटाने के मुद्दे पर महाराष्ट्र सरकार के मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि हम केंद्र सरकार से भी इस पर बातचीत करेंगे और क्योंकि ये सुप्रीम कोर्ट का मामला है इसलिए कोर्ट के ऑर्डर का पालन करते हुए किसी को भी तकलीफ नहीं होनी चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: हनुमान चालीसा: महाराष्ट्र के गृह मंत्री की बैठक में शामिल नहीं होंगे फडणवीस, बोले- राज्य में है अराजकता का माहौल

नवनीत राणा ने लोकसभा अध्यक्ष को लिखा पत्र

अमरावती सांसद नवनीत राणा ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि ये मेरा ईमानदार और सच्चा विश्वास है कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में शिवसेना अपने स्पष्ट हिंदुत्व सिद्धांतों से पूरी तरह से भटक गई है। वो सार्वजनिक जनादेश को धोखा देना चाहती थी और इसलिए कांग्रेस-एनसीपी के साथ चुनाव के बाद गठबंधन कर लिया। राणा ने कहा कि मैंने शिवसेना में हिंदुत्व की लौ को फिर से जगाने की सच्ची आशा के साथ घोषणा की थी कि मैं मुख्यमंत्री के आवास पर जाऊंगा और उनके आवास के बाहर "हनुमान चालीसा" का जाप करूंगा। यह किसी धार्मिक तनाव को भड़काने के लिए नहीं था। वास्तव में मैंने मुख्यमंत्री को "हनुमान चालीसा" के जाप में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। मैं दोहराता हूं कि मेरी कार्रवाई मुख्यमंत्री के खिलाफ नहीं थी।

पीने का पानी भी नहीं दिया गया

राणा ने अपने पत्र में कहा कि हालाँकि, मुंबई में कानून और व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने की स्थिति को देखते हुए मैंने सार्वजनिक रूप से सीएम आवास जाकर हनुमान चालीसा का जाप करने की योजना को निरस्त कर दिया था।  मैं अपने पति विधायक रवि राणा के साथ अपने घर में कैद थी। मुझे 23.04.2022 को खार पुलिस स्टेशन ले जाया गया और 23.03.2022 को मैंने पुलिस थाने में रात बिताई ... मैंने रात भर पीने के पानी के बार-बार मांग की, लेकिन पूरे दिन मुझे पीने का पानी उपलब्ध नहीं कराया गया। राणा ने पुलिस अधिकारियों पर बड़ा आरोप लगाते हुए लिखा कि  मौजूद पुलिस कर्मचारियों ने मुझसे कहा कि मैं अनुसूचित जाति की हूं और इसलिए वे मुझे एक ही गिलास में पानी नहीं देंगे। इस प्रकार, मुझे मेरी जाति के आधार पर सीधे तौर पर प्रताड़ित किया गया था और केवल इस कारण से पीने का पानी नहीं दिया गया। अमरावती के सांसद नवनीत राणा ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को लिखा कि मैं जोर देकर कहती हूं कि पानी पीने जैसे बुनियादी मानवाधिकारों से मुझे इस आधार पर वंचित किया गया था कि मैं अनुसूचित जाति से हूं।  

इसे भी पढ़ें: किरीट सोमैया पर हमले का मुद्दा केंद्र के समक्ष उठाएंगे देवेंद्र फडणवीस

महाराष्ट्र का दौरा करेगी सीआईएसएफ की विशेष टीम

किरीट सोमैया सहित महाराष्ट्र भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज दिल्ली में गृह मंत्रालय (एमएचए) में गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय से मुलाकात की है। गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने हमें आश्वासन दिया कि वह गृह सचिव अजय भल्ला से विस्तार से बात करेंगे और महाराष्ट्र में जो कुछ भी हो रहा है उस पर एक रिपोर्ट लेंगे। उन्होंने हमें यह भी आश्वासन दिया कि सीआईएसएफ की एक विशेष टीम या यदि आवश्यक हो तो गृह मंत्रालय के एक अधिकारी को महाराष्ट्र भेजा जाएगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।