बिहार में महागठबंधन में दरार, 2024 में सभी लोकसभा सीटों पर अकेले लड़ेगी कांग्रेस

बिहार में महागठबंधन में दरार, 2024 में सभी लोकसभा सीटों पर अकेले लड़ेगी कांग्रेस

मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए भक्त चरण दास ने यह स्पष्ट कर दिया कि बिहार में 2 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए पार्टी पूरी तरीके से दम लगा रही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस 2024 के लोकसभा चुनाव में सभी 40 सीटों पर अकेले लड़ेगी।

बिहार में महागठबंधन का कुनबा पूरी तरह से बिखरता नजर आ रहा है। 2 सीटों पर जारी उपचुनाव के बीच कांग्रेस और राजद के बीच तकरार अब चरम पर है। भले ही राहुल गांधी की ओर से लालू यादव के साथ एक हंसता खिलखिलाते फोटो साझा कर संदेश देने की कोशिश जरूर की गई थी। लेकिन बात बनती दिखाई नहीं दे रही है। पटना पहुंचते ही बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने बयान देते हुए कहा कि कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनाव अकेले 40 सीटों पर पूरी ताकत से लड़ेगी। इसके साथ ही उन्होंने राजद पर साथ नहीं देने का आरोप लगाया। 

इसे भी पढ़ें: टुकड़े-टुकड़े गैंग पर गिरिराज का वार, कहा- अब उनके पास बोलने के लिए नहीं कुछ, जल्द ले लें वैक्सीन

भक्त चरण दास का बयान

मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए भक्त चरण दास ने यह स्पष्ट कर दिया कि बिहार में 2 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए पार्टी पूरी तरीके से दम लगा रही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस 2024 के लोकसभा चुनाव में सभी 40 सीटों पर अकेले लड़ेगी। बिहार में गठबंधन के टूटने पर उन्होंने आरजेडी को इसका जिम्मेदार बताया। राजद पर गठबंधन धर्म का पालन नहीं करने का आरोप लगाया और कहा कि इसी कारण पार्टी को बड़ा फैसला लेना पड़ा। 

मनोज झा का पलटवा

भक्त चरण दास के बयान पर राजद प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद मनोज झा ने पलटवार किया है। मनोज झा ने कहा कि भक्त चरण दास अब संघी हो गए हैं। संघ के इशारे पर चल रहे हैं। इसके साथ ही भारत चरण दास ने कहा कि वह क्या कह रहे हैं। हम नहीं जानते लेकिन हम इतना जरुर जानते हैं कि हमने गठबंधन नहीं तोड़ा है। 

इसे भी पढ़ें: J&K के कुलगाम में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, मजदूरों की हत्या में शामिल 2 आतंकियों को किया ढेर

2 सीटों पर उपचुनाव

बिहार के कुशेश्वरस्थान और तारापुर सीट पर उपचुनाव हो रहे हैं। एनडीए पूरे दमखम के साथ इस उपचुनाव लड़ रहा है। दोनों ही सीटों पर जदयू ने अपने उम्मीदवार उतारे हैं। वही, महागठबंधन में टूट दिखाई दिया। राजद और कांग्रेस ने अलग-अलग उम्मीदवार उतारे हैं। कांग्रेस एक सीट पर दावा ठोक रही थी। लेकिन राजद की ओर से वह सीट उसे लड़ने के लिए नहीं दिया गया जिसके बाद कांग्रेस ने दोनों ही सीटों पर अपने अपने उम्मीदवार उतार दिए। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।