रोहिणी अदालत गोलीबारी : आप ने बताया बड़ी सुरक्षा चूक

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 25, 2021   07:21
रोहिणी अदालत गोलीबारी : आप ने बताया बड़ी सुरक्षा चूक

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा, “यह एक बड़ी सुरक्षा चूक है, खासकर जब पुलिस को पहले से ही सूचना थी कि अपराधियों के बीच गोलीबारी हो सकती है।”

आम आदमी पार्टी (आप) ने दिल्ली की रोहिणी अदालत में शुक्रवार को हुई गोलीबारी की घटना को सुरक्षा में बड़ी चूक करार देते हुएउच्च न्यायालय से इस मामले का संज्ञान लेने और दिल्ली पुलिस प्रमुख के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई के नेता नीलकांत बक्शी ने कहा कि आप को सत्ताधारी दल होने के नाते इस तरह की संवेदनशील घटना पर संयम रखना चाहिए और किसी प्रकार की राजनीति करने से बचना चाहिए। भाजपा नेता ने कहा, “दिल्ली पुलिस कर्मियों द्वारा मौके पर की गई त्वरित कार्रवाई ने किसी भी नागरिक को नुकसान होने से बचा लिया, जिसकी आप और उसके नेताओं को सराहना करनी चाहिए।”

इसे भी पढ़ें: जामिया नवंबर से पीएचडी शोधार्थियों के लिए खुल जाएगा

रोहिणी अदालत में शुक्रवार को वकील के वेश में आये दो हमलावरों ने गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस की तत्परता से की गयी जवाबी कार्रवाई में दोनों हमलावर भी मारे गए। गोलीबारी के वीडियो फुटेज में दिख रहे दो हमलावर प्रतिद्वंद्वी गिरोह से थे, जिसमें गोलियों की आवाज सुनी जा सकती है। पुलिसकर्मियों और वकीलों के बीच हाथापाई हुई, लेकिन अधिकारियों ने कहा कि कोई और हताहत नहीं हुआ है।

पुलिस ने कहा कि घटना दोपहर करीब 1.15 बजे हुई जब गोगी को सुनवाई के लिए अदालत कक्ष संख्या 207 लाया गया और वकीलों की पोशाक में आए दो गैंगस्टरों ने उस पर गोलियां चला दीं। आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा, “यह एक बड़ी सुरक्षा चूक है, खासकर जब पुलिस को पहले से ही सूचना थी कि अपराधियों के बीच गोलीबारी हो सकती है।”

इसे भी पढ़ें: ओवैसी के घर पर तोड़फोड़ करने के आरोप में हिंदू सेना के पांच सदस्य गिरफ्तार : पुलिस

भारद्वाज ने कहा, “केंद्र ने सभी नियमों को दरकिनार कर अपने पसंदीदा अधिकारी राकेश अस्थाना को दिल्ली पुलिस के आयुक्त के रूप में नियुक्त किया। उच्च न्यायालय को इस मामले का स्वत: संज्ञान लेना चाहिए और शीर्ष पुलिस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।