संघ कार्यकर्ता की हत्या पर भाजपा ने कहा, केरल सरकार का कोई छुपा हुआ एजेंडा है

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 19, 2021   14:53
संघ कार्यकर्ता की हत्या पर भाजपा ने कहा, केरल सरकार का कोई छुपा हुआ एजेंडा है

27 वर्षीय संघ कार्यकर्ता संजीत की सोमवार को उनकी पत्नी के सामने उस समय हत्या कर दी गई थी, जब वह अपनी पत्नी को उसके कार्यालय छोड़ने जा रहे थे। केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन संजीत के घर गए और शोकसंतप्त परिवार को सांत्वना दी।

पलक्कड़। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक युवा कार्यकर्ता की हाल में हुई हत्या के मामले को जांच के लिए राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) को सौंपने की ‘‘अनिच्छा’’ को लेकर केरल सरकार की आलोचना करते हुए शुक्रवार को कहा कि मामले के दोषियों को सुरक्षा प्रदान करने के पीछे उसका कोई ‘‘छुपा हुआ एजेंडा’’ है। भाजपा ने इन आरोपों को दोहराया कि दिन-दिहाड़े की गई इस हत्या के पीछे इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की राजनीतिक शाखा सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के कार्यकर्ताओं का हाथ है और आरोपियों को सत्तारूढ़ दल का समर्थन प्राप्त होने के कारण राज्य पुलिस निष्पक्ष और स्वतंत्र जांच नहीं कर सकती। 

इसे भी पढ़ें: केरल के गवर्नर आरिफ मोहम्मद खान का बड़ा बयान, जिन्ना के दादा और पिता नहीं थे मुसलमान 

गौरतलब है कि 27 वर्षीय संघ कार्यकर्ता संजीत की सोमवार को उनकी पत्नी के सामने उस समय हत्या कर दी गई थी, जब वह अपनी पत्नी को उसके कार्यालय छोड़ने जा रहे थे। केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन संजीत के घर गए और शोकसंतप्त परिवार को सांत्वना दी। उन्होंने बाद में संवाददाताओं से कहा कि केरल में हाल में संजीत समेत दो लोगों की हत्या हुई और इन हत्याओं के तार आतंकवाद से जुड़े हैं तथा सच का पता वही एजेंसी लगा सकती है,जो इस प्रकार के मामले से निपटने में विशेषज्ञ हो। 

इसे भी पढ़ें: PFI के कथित हमले में मारे गए संघ कार्यकर्ता के परिवार से मिले मनमोहन वैद्य 

मुरलीधरन ने कहा, ‘‘भाजपा और आरएसएस इस मामले की एनआईए से जांच कराने का दवाब बना रहे हैं। एलडीएफ (वाम लोकतान्त्रिक मोर्चा) सरकार मामले को एनआईए को सौंपने को लेकर अनिच्छुक है, क्योंकि इसके पीछे उनका कोई छुपा हुआ एजेंडा है।’’ केंद्रीय मंत्री ने मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नीत एलडीएफ सरकार पर आरोप लगाया कि उसे दोषियों के बारे में स्पष्ट जानकारी है। वरिष्ठ भाजपा नेता ने दक्षिणी राज्य में कथित ‘‘इस्लामी आतंकवादी बलों’’ की ताकत बढ़ने को लेकर सचेत किया और माकपा और उसकी सरकार पर मतों के लिए उन्हें समर्थन देने का आरोप लगाया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।