सचिन पालयट का दावा, राजस्थान के उपचुनाव में तीनों सीटों पर कांग्रेस जीतेगी

sachin pilot
राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पालयट ने राज्य में विधानसभा की तीन सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस की जीत का विश्वास जताते हुए बुधवार को भाजपा पर मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाने में नाकाम रहने का आरोप लगाया।

जयपुर। राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पालयट ने राज्य में विधानसभा की तीन सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस की जीत का विश्वास जताते हुए बुधवार को भाजपा पर मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाने में नाकाम रहने का आरोप लगाया। पायलट ने यहां पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा कि ‘‘मुझे लगता है कि तीनों जगह कांग्रेस पार्टी जीतेगी। हम चुनाव प्रचार के दौरान सरकार के कामों को जनता तक लेकर गये हैं। चुनाव प्रचार में जिन मंत्रियों व पदाधिकारियों की ड्यटी लगाई गई थी, उन सबने मिलकर अच्छा काम किया है। ’

इसे भी पढ़ें: कूच बिहार हिंसा के दोषियों को सजा दिलाने के लिए जांच शुरू करेगी बंगाल सरकार : ममता बनर्जी

ने भाजपा और केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘मुझे लगता है कि जो बिखराव और टकराव भाजपा में है, उससे भी जनता बहुत नाखुश है। ये लोग राज्य में एक सक्रिय और मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाने में नाकाम रहे। वहीं केन्द्र सरकार ने जो किया है, चाहे कृषि कानून हों या महंगाई, वह हर जगह विफल रहे हैं और जनता सारी बातों को देख रही है। ’ कांग्रेस नेता ने कहा, “ मुझे पूरा विश्वास है कि हम सरकार के काम को लोगों तक पहुंचाने में कामयाब होंगे।” कोरोना वायरस संक्रमण के एक बार फिर से फैलने को लेकर चिंता जताते हुए पायलट ने कहा, “ बहुत अधिक गंभीर स्थिति है, क्योंकि संक्रमण की गति इस बार दोगुनी है। पिछली बार जब देश में प्रतिदिन एक लाख मामले आ रहे रहे थे तो लॉकडाउन था।”

इसे भी पढ़ें: कोरोना के कहर के कारण उत्तर प्रदेश के बहराइच में रात्रि कर्फ्यू लागू करने का फैसला

उन्होंने कहा, “ इस बार हमें अपने अनुभव से सीखना चाहिए।” पायलट ने हर नागरिक के टीकाकरण पर जोर दिया। विधायकों की नाराजगी और सरकार के साथ तालमेल संबंधी सवाल पर पायलट ने कहा, ‘ नाराजगी की बात नहीं है.. जो व्यवहारिक, सामाजिक मुद्दे हैं, उनको हर जनप्रतिनिधि चाहे वह सरपंच, प्रधान, विधायक या मंत्री हो, समय समय पर उठाते रहते हैं... मुझे पूरा विश्वास और उम्मीद है कि जनप्रतिनिधियों ने जिन मुद्दों को उठाया था, उनपर तुरंत प्रभाव से कार्रवाई होनी चाहिए और मुझे लगता है कि कार्रवाई होगी भी।” उन्होंने कहा, “हमारी सरकार का लगभग ढाई साल का कार्यकाल पूरा हो चुका है और हमने जो वादे अपने घोषणा पत्र में किये थे, उन्हें पूरे भी किए हैं, लेकिन अभी जो वादे पूरे नहीं कर पाये हैं उसके के लिए शेष कार्यकाल में और गति से काम करना पड़ेगा।”

पायलट ने कहा, “ इसमें राजनीतिक नियुक्तियां हैं, मंत्रिमंडल का विस्तार है और जो भी करना है, पार्टी और सरकार मिलकर करेगी।” पूर्व उपमुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि उनके व उनके समर्थक विधायकों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर विचार के लिए गठित समिति के निर्णय व आदेशों पर राज्यों में चुनाव व उपचुनाव की प्रक्रिया समाप्त होने के बाद काम होगा। पायलट ने कहा, ‘मुझे विश्वास भी है, भरोसा भी है कि अब और ज्यादा विलंब नहीं होगा। और जो चर्चा की थी जो मुद्दे उठाये थे, जिन मुद्दों पर आम सहमति बनी थी, उनपर तुरंत प्रभावसे कार्रवाई होनी चाहिए और होगी भी। मुझे सोनिया गांधी पर पूरा विश्वास है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़