विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में रहती हैं साध्वी निरंजन ज्योति! तीखे बयानों से तिलमिलाए विरोधियों ने चलाई थी गोली

विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में रहती हैं साध्वी निरंजन ज्योति! तीखे बयानों से तिलमिलाए विरोधियों ने चलाई थी गोली

निरंजन ज्योति का जन्म 1 मार्च 1967 को उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले के पटेवरा गाँव में हुआ था। उनके पिता अच्युतानंद और माता शिव काली देवी थीं। उनका जन्म एक निषाद जाति के परिवार में हुआ था।

साल 2014 में भारतीय जनता पार्टी की साध्वी निरंजन ज्योति के एक बयान ने राजनीतिक जगत में हंगामा मचा दिया था। दिल्ली में चुनाव होने वाले थे ऐसे में प्रचार-प्रचार करने के लिए साध्वी निरंजन ज्योति ने कुछ ऐसा कह दिया जिससे सभी पार्टियों में हलचल मच गयी थी। साध्वी ने एक संबोधन में कहा था कि दिल्ली में आपको क्या चाहिए? उन्होंने कहा कि दिल्ली में सरकार राम (रामज़ादों) के बेटों द्वारा चलाई जाएगी या हरामज़ादों द्वारा! साध्वी का यह इशारा एक विशेष समुदाय के लिए था। इस बयान के बाद साध्वी निरंजन ज्योति पर कई मुकदमें चलाए गये। तमाम शिकायतें दर्ज की गयी। भारतीय जनता पार्टी ने भी यह बयान उनका व्यक्तिगत करके अपना पलरा झाड़ लिया था।

इसे भी पढ़ें: MEA ने की भारतीयों से अपील, कहा- सभी पश्चिमी यूक्रेन की तरफ जाएं, बॉर्डर पर बहुत भीड़ है

कौन हैं साध्वी निरंजन ज्योति

एक सांसद के रूप में साध्वी निरंजन ज्योति की लोकप्रियता का परीक्षण करने से पहले, साध्वी निरंजन ज्योति 2012 से 2014 तक उत्तर प्रदेश में विधायक थीं, जब उन्होंने हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया था। निरंजन ज्योति जिसे आमतौर पर साध्वी निरंजन ज्योति के नाम से जाना जाता है, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से संबंधित एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं। उन्हें नवंबर 2014 में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग राज्य मंत्री नियुक्त किया गया था। 30 मई 2019 को, उन्हें नरेंद्र मोदी 2019 कैबिनेट में ग्रामीण विकास मंत्रालय में राज्य मंत्री नियुक्त किया गया। 

2014 के आम चुनाव में जीतने के बाद, वह लोकसभा में फतेहपुर निर्वाचन क्षेत्र, उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व करती हैं।  वह 2012 के चुनाव में जीत के बाद उत्तर प्रदेश विधानसभा में हमीरपुर निर्वाचन क्षेत्र का भी प्रतिनिधित्व करती हैं।

इसे भी पढ़ें: शिवरात्रि व्रत में बनाएं फलहारी पनीर पकौड़े, बहुत आसान है बनाने की विधि

कैसा रहा है साध्वी निरंजन ज्योति का जीवन

निरंजन ज्योति का जन्म 1 मार्च 1967 को उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले के पटेवरा गाँव में हुआ था। उनके पिता अच्युतानंद और माता शिव काली देवी थीं। उनका जन्म एक निषाद जाति के परिवार में हुआ था।

जब विरोधियों ने चलाई थी साध्वी निरंजन ज्योति पर ताबड़तोड़ गोली

4 जून 2014 को, भानु पटेल नामक एक व्यक्तिने ज्योति पर गोली चला दी, जब वह लखनऊ के आवास विकास कॉलोनी में एक समारोह से लौट रही थी। वह बाल-बाल बच गई लेकिन उनका अंगरक्षक घायल हो गया। मई 2019 में, ज्योति ग्रामीण विकास राज्य मंत्री बनीं।

व्यक्तिगत विचार और विवाद

1 दिसंबर 2014 को उन्होंने एक सार्वजनिक रैली में कहा, "यह आप ही हैं जिन्हें तय करना है कि दिल्ली में सरकार राम (रामज़ादे) के बेटों द्वारा चलाई जाएगी या कमीनों (हरामज़ादे)" द्वारा मुसलमानों का जिक्र करते हुए इस बयान से संसद में हंगामा मच गया। बाद में उसने अपने बयानों पर खेद व्यक्त किया और माफी मांगने की पेशकश की।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।