NCB से समीर वानखेड़े की हुई विदाई, नहीं मिला एक्सटेंशन, आर्यन खान को किया था गिरफ्तार

NCB से समीर वानखेड़े की हुई विदाई, नहीं मिला एक्सटेंशन, आर्यन खान को किया था गिरफ्तार

एनसीबी ने बताया कि एनसीबी मुंबई के निदेशक समीर वानखेड़े का कार्यकाल 31 दिसंबर को समाप्त हो गया था और उन्होंने एक्सटेंशन का अनुरोध नहीं किया था। वानखेड़े आज से दिल्ली में डीआरआई (राजस्व खुफिया निदेशालय) के निदेशक को रिपोर्ट करेंगे।

मुंबई। फिल्म अभिनेता शाहरुख खान के बेटे 'आर्यन खान' को गिरफ्तार करने वाले एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। आपको बता दें कि एनसीबी मुंबई के निदेशक समीर वानखेड़े का कार्यकाल समाप्त हो चुका है और उन्हें एक्सटेंशन नहीं मिला है। ऐसे में एनसीबी से उनकी विदाई हो गई है। 

इसे भी पढ़ें: समीर वानखेड़े का कार्यकाल 31 दिसंबर को हो रहा है समाप्त, सुशांत सिंह राजपूत मामले से लेकर

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एनसीबी ने बताया कि एनसीबी मुंबई के निदेशक समीर वानखेड़े का कार्यकाल 31 दिसंबर को समाप्त हो गया था और उन्होंने एक्सटेंशन का अनुरोध नहीं किया था। वानखेड़े आज से दिल्ली में डीआरआई (राजस्व खुफिया निदेशालय) के निदेशक को रिपोर्ट करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: नहीं कम हो रही समीर वानखेड़े की मुश्किलें, अब आबकारी विभाग ने भेजा बार लाइसेंस मामले में नोटिस 

आपको बता दें कि समीर वानखेड़े 2008 बैच के आईआरएस अधिकारी हैं, जो किंग खान के बेटे आर्यन को गिरफ्तार करने के बाद सुर्खियों में आए थे। इस साल अक्टूबर में, वानखेड़े के नेतृत्व में एक टीम ने मुंबई तट के पास एक क्रूज जहाज पर छापेमारी के दौरान कथित तौर पर मादक पदार्थ बरामदगी का दावा किया था और अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन समेत अन्य लोगों को गिरफ्तार किया था। लेकिन बाद में एनसीबी द्वारा छापेमारी के दौरान इस्तेमाल स्वतंत्र गवाहों की साख पर सवाल उठे और यह भी आरोप लगाया गया था कि एनसीबी अधिकारियों ने शाहरुख खान से पैसे ऐंठने की कोशिश की थी।

इसके अलावा महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक के भी निशाने पर थे। हालांकि, अब समीर वानखेड़े को नया पता दिल्ली होगा। जहां पर नो डीआरआई के निदेशक को रिपोर्ट करेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।