संघमित्रा मौर्य ने उठाए भाजपा पर सवाल, योगी आदित्यनाथ को बताया अपर्णा यादव का चचेरा भाई

sanghmitra maurya
अंकित सिंह । Jan 19, 2022 6:32PM
उन्होंने आगे लिखा कि हफ्ते भर पहले एक बेटी का पिता पार्टी बदलता है तो पुत्री पर वार हो रहा था, आज वही एक बहू अपने चचेरे भाई (योगी जी) के साथ एक पार्टी से दूसरी पार्टी में आती है तो स्वागत। क्या इसको भी वर्ग से जोड़ा जाना चाहिए कि बेटी (मौर्य) पिछड़े वर्ग की है और बहू (विष्ट) अगड़े वर्ग से है।

भाजपा की बदायूं से सांसद संघमित्रा मौर्य ने अपर्णा यादव के भाजपा में शामिल होने को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं। इतना ही नहीं, अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए संघमित्रा मौर्य ने योगी आदित्यनाथ को अपर्णा यादव का चचेरा भाई भी बता दिया है। अपने पोस्ट के जरिए संघमित्रा मौर्य ने लिखा कि शब्द अच्छा है लेकिन संस्कार है किसके अंदर? उन्होंने आगे लिखा कि हफ्ते भर पहले एक बेटी का पिता पार्टी बदलता है तो पुत्री पर वार हो रहा था, आज वही एक बहू अपने चचेरे भाई (योगी जी) के साथ एक पार्टी से दूसरी पार्टी में आती है तो स्वागत। क्या इसको भी वर्ग से जोड़ा जाना चाहिए कि बेटी  (मौर्य) पिछड़े वर्ग की है और बहू (विष्ट) अगड़े वर्ग से है।

आपको बता दें कि हाल में ही संघमित्रा मौर्य के पिता स्वामी प्रसाद मौर्य में भाजपा छोड़ समाजवादी पार्टी का दामन थामा था। संघमित्रा मौर्य ने सवाल किया कि क्या बहन-बेटी का भी जाति और धर्म होता है? उन्होंने लिखा, 'अगड़ा भाजपा में आता है तो राष्ट्रवादी और वो वोट भाजपा को करेगा या नहीं इसपे सवाल खड़ा करना तो दूर, सोचा भी नही जाता, लेकिन पार्टी में रहने वाला राष्ट्रद्रोही, उसके वोट पे सवाल खड़े हो रहे ऐसा क्यों?' 

इसे भी पढ़ें: कौन हैं संघमित्र मौर्य जिन्होंने बदायूं से मुलायम के भतीजे को हराकर खत्म किया सपा का दबदबा

इसके साथ ही अपने पोस्ट के आखिर में संघमित्रा मौर्य ने यह भी लिखा है कि कृपया सलाह ना दें, मैं कहां जाऊं, क्या करूं, मैं जहां हूं ठीक हूं। इससे पहले संघमित्रा मौर्य ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण के लिए भाजपा के प्रचारकों की सूची का स्वागत करते हुए लिखा था जय भाजपा तय भाजपा। संघमित्रा मौर्य ने इस बात को भी साफ कर दिया था कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में काम करती रहेंगी। उन्होंने कहा था कि मैं देश के प्रधानमंत्री आदरणीय नरेंद्र मोदी जी के मुझे बेटी के रूप में मेरे पिता से मांगे हुए वचन से बंधी हुई हूं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़