सिंधिया का दावा, कांग्रेस की सरकार बनते ही संसद में पारित होगा महिला आरक्षण विधेयक

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2019   15:19
सिंधिया का दावा, कांग्रेस की सरकार बनते ही संसद में पारित होगा महिला आरक्षण विधेयक

मालूम हो कि प्रदेश में गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट से इस दफा चुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया के स्थान पर उनकी पत्नी प्रियदर्शिनी राजे सिंधिया के चुनाव में उतरने की अटकलें लगाई जा रही थीं।

शिवपुरी, (मप्र)। लोकसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक और गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट से सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि अगर केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनती है तो महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने संबंधी विधेयक संसद के पहले ही सत्र में पारित कर दिया जायेगा। सिंधिया ने रविवार को यहां आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के ‘सखी संवाद’ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा, ‘‘यदि केन्द्र में कांग्रेस की सरकार आती है तो संसद के पहले ही सत्र में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने संबंधी विधेयक पारित कर दिया जाएगा।’’

उन्होंने यह भी कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव वह गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट से ही लड़ेंगे। मालूम हो कि प्रदेश में गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट से इस दफा चुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया के स्थान पर उनकी पत्नी प्रियदर्शिनी राजे सिंधिया के चुनाव में उतरने की अटकलें लगाई जा रही थीं। कांग्रेस नेता ने कहा कि देश में असहिष्णुता का वातावरण पैदा किया जा रहा है, यह धर्म निरपेक्षता का देश रहा है, उदारता का देश रहा है। यहां सदैव महिलाओं का सम्मान होता रहा है। राहुल गांधी और सोनिया गांधी सहित वे स्वयं भी महिला सशक्तिकरण के पक्षधर हैं।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने प्रियंका और सिंधिया के सहयोग के लिए तीन-तीन सचिव नियुक्त किए

कार्यक्रम में मौजूद प्रियदर्शिनी राजे हालांकि पहले ही कह चुकी हैं कि सिंधिया इलाके के लोगों का प्रतिनिधित्व करते रहेंगे और चुनाव लड़ने की उनकी कोई योजना नहीं है। ज्ञात हो कि गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट सिंधिया परिवार की परम्परागत सीट रही है। यहां से राजमाता विजयाराजे सिंधिया, माधवराव सिंधिया और वर्तमान सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया कई दफा सांसद निर्वाचित हो चुके हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...