• बारिश के बाद धर्मशाला के चैत्रु का हाल बेहाल ! ट्रैफिक के चलते खोली गईं सारी सड़कें

पीडब्ल्यूडी ने बारिश से मची तबाही और क्षतिग्रस्त मकानों का जायजा लिया। पीडब्ल्यूडी के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर सुशील धडवाल ने बताया कि कल की स्थिति का जायज़ा लेने आज हम चैत्रु रोड पर आए हैं।

धर्मशाला। हिमाचल के धर्मशाला में बादल फटने की वजह से तबाही मची है। बता दें कि धर्मशाला के मैक्लोडगंज में सोमवार सुबह बादल फटने की वजह से जल स्तर बढ़ गया। जिसकी वजह से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। भीषण गर्मी और कोरोना प्रतिबंधों में छूट मिलने के बाद भारी संख्या में पर्यटक घूमने के लिए वहां पहुंचे हैं। ऐसे में तबाही वाली बारिश ने पर्यटकों की गाड़ियां भी बहा ले गईं। 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल और उत्तराखंड में बादल फटने से प्रभावित हुए लोगों की मदद करें कांग्रेस कार्यकर्ता: राहुल गांधी 

इसी बीच पीडब्ल्यूडी ने बारिश से मची तबाही और क्षतिग्रस्त मकानों का जायजा लिया। पीडब्ल्यूडी के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर सुशील धडवाल ने बताया कि कल की स्थिति का जायज़ा लेने आज हम चैत्रु रोड पर आए हैं। यहां पर सबसे ज़्यादा नुकसान हुआ है। ट्रैफिक के लिए सभी सड़कों को हमने खोल दिया है।

उन्होंने बताया कि यहां पर सबसे ज़्यादा नुकसान हुआ है क्योंकि यहां की नदी सड़क की तरफ आ गई है और नदी ने ब्रिज के एक हिस्से को भी नुकसान पहुंचाया है। बहाली का काम जारी है। 

इसे भी पढ़ें: भारी बरसात ने हिमाचल में मचाई तबाही, भूस्खलन से सड़कों पर आवाजाही भी प्रभावित 

गौरतलब है कि हिमाचल में भारी बारिश के चलते अचानक आई बाढ़ में पर्यटन स्थलों पर कई कारें और इमारतें बह गईं। साथ ही खराब मौसम के चलते यहां स्थित हवाईअड्डा को भी बंद करना पड़ गया। कांगड़ा जिला प्रशासन ने पर्यटकों को भारी बारिश के मद्देनजर धर्मशाला की अपनी यात्रा स्थगित करने का निर्देश दिया है।