साध्वी और अनंत हेगड़े के बयान से शाह ने किया किनारा

By अभिनय आकाश | Publish Date: May 17 2019 12:23PM
साध्वी और अनंत हेगड़े के बयान से शाह ने किया किनारा
Image Source: Google

नाथूराम गोडसे को लेकर साध्वी प्रज्ञा ने पहले तो देशभक्त बताया था फिर मामला बढ़ने पर माफी मांगी थी। वहीं साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान के समर्थन में अनंत हेगड़े की तरफ से कथित ट्वीट हुआ था कि गोडसे के प्रति नजरिया बदलने की जरूरत है और माफी मांगने की जरूरत नहीं है। ट्वीट पर विवाद के बाद केंद्र की मोदी सरकार के मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने सफाई दी है।

नई दिल्ली। नाथूराम गोडसे को लेकर बयानबाजी के चल रहे दौर के बीच भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने गोडसे को लेकर दिए गए बयान से किनारा कर लिया है। अमित शाह ने ट्विट करते हुए कहा कि विगत 2 दिनों में अनंतकुमार हेगड़े, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और नलीन कटील के जो बयान आये हैं वो उनके निजी बयान हैं, उन बयानों से भारतीय जनता पार्टी का कोई संबंध नहीं है। शाह ने साथ ही कहा कि बयानों से भाजपा का कोई संबंध नहीं है। इन लोगों ने अपने बयान वापिस लिए हैं और माफ़ी भी मांगी है। फिर भी सार्वजनिक जीवन तथा भारतीय जनता पार्टी की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों को पार्टी ने गंभीरता से लेकर तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया है। अनुशासन समिति तीनों नेताओं से जवाब मांगकर उसकी एक रिपोर्ट 10 दिन के अंदर पार्टी को दे, इस तरह की सूचना दी गयी है।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: BJP की फटकार के बाद गोडसे को देशभक्त कहने पर साध्वी प्रज्ञा ने मांगी माफी

बता दें कि नाथूराम गोडसे को लेकर साध्वी प्रज्ञा ने पहले तो देशभक्त बताया था फिर मामला बढ़ने पर माफी मांगी थी। वहीं साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान के समर्थन में अनंत हेगड़े की तरफ से कथित ट्वीट हुआ था कि गोडसे के प्रति नजरिया बदलने की जरूरत है और माफी मांगने की जरूरत नहीं है। ट्वीट पर विवाद के बाद केंद्र की मोदी सरकार के मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने सफाई दी है। अनंत कुमार हेगड़े का कहना है कि उनका ट्विटर अकाउंट हैक हो गया था। अनंत कुमार हेगड़े ने गोडसे पर किए गए ट्वीट भी डिलीट कर दिए। अनंत कुमार हेगड़े ने सफाई में कहा कि गांधी के हत्यारे के लिए कोई सहानुभूति नहीं हो सकती है। भाजपा सांसद नलिन ने भी गोडसे पर बयान देते हुए उनकी तुलना राजीव गांधी से कर दी। नलिन ने कहा, 'गोडसे ने एक को मारा, कसाब ने 72 को मारा, राजीव गांधी ने 17 हजार को मारा। अब आप खुद तय कर लो कि कौन ज्यादा क्रूर है।

इसे भी पढ़ें: नाथूराम गोडसे पर कमल हासन के बयान का ओवैसी ने किया समर्थन



गौरतलब है कि अभिनेता से नेता बने कमल हासन हिंदू आतंकवाद को लेकर विवादित बयान दिया था। तमिलनाडु में चुनाव प्रचार करते हुए हासन ने कहा था कि आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था। कमल हासन ने कहा, 'आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे था। मैं यह इसलिए नहीं कह रहा हूं क्योंकि यहां पर कई सारे मुस्लिम मौजूद हैं। मैं महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने खड़े होकर यह कह रहा हूं।' हालांकि बाद में हासन ने भी सफाई देते हुए कहा था कि हर धर्म के आतंकवादी पाए जाते हैं और कोई धर्म यह दावा नहीं कर सकता कि वह किसी और धर्म से बेहतर है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video