संजय राउत की गिरफ्तारी को लेकर एक्शन मोड में शिवसेना, प्रवक्ताओं को ट्रेनिंग देंगे उद्धव

Sanjay Raut
Creative Common
अभिनय आकाश । Aug 03, 2022 12:52PM
उद्धव ठाकरे ये भलि भांति जानते हैं कि इस तरह की जंग में कानूनी दांवपेंच के अलावा सामाजिक रूप से भी फतह हासिल करने की आवश्यकता होती है। इसी के मद्देनजर उन्होंने तमाम अपने प्रवक्ताओं के साथ एक मीटिंग रखी है। जिसमें प्रवक्ताओं को बताया जाएगा कि पूरे मामले को मीडिया के सामने कैसे प्रजेंट करना है।

धनशोधन मामले में पार्टी के सांसद संजय राउत के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कार्रवाई के बाद अब शिवसेना ने भी जवाबी कार्रवाई के लिए कमर कस ली है। मातोश्री के बेहद करीबी माने जाने वाले संजय राउत की गिरफ्तारी के बाद से ही उद्धव ठाकरे अलर्ट मोड पर नजर आ रहे हैं। उन्होंने राउत की गिरफ्तारी के तुरंत बाद ही उनके घर जाकर परिवार वालों से मुलाकात करते हुए शिवसेना संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे का कट्टर शिवसैनिक करार दिया। अब इसके साथ ही संजय राउत की गिरफ्तारी को शिवसेना मिडिया के जरिए भुनाने की भी तैयारी में है। 

इसे भी पढ़ें: आदित्य ठाकरे ने महाराष्ट्र की सरकार को बताया गद्दारों की सरकार, कहा- जल्द गिर जाएगी

उद्धव ठाकरे ये भलि भांति जानते हैं कि इस तरह की जंग में कानूनी दांवपेंच के अलावा सामाजिक रूप से भी फतह हासिल करने की आवश्यकता होती है। इसी के मद्देनजर उन्होंने तमाम अपने प्रवक्ताओं के साथ एक मीटिंग रखी है। जिसमें प्रवक्ताओं को बताया जाएगा कि पूरे मामले को मीडिया के सामने कैसे प्रजेंट करना है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ये मीटिंग दोपहर को मातोश्री में होगी। कई मौकों पर देखा जाता है कि किसी मुद्दे को लेकर पार्टी के आलाकमान का कुछ और स्टैंड होता है वहीं पार्टी प्रवक्ता मीडिया के सामने कुछ और ही बयां कर देते हैं। जिसकी वजह से पार्टी की फजीहत हो जाती है। ऐसे में संजय राउत वाले मसले पर शिवसेना अपने प्रवक्ताओं को पहले से ही ट्रेनिंग दे रही है। 

बता दें कि 

इसे भी पढ़ें: किसने किसको धोखा दिया? हम या कोई और? वरिष्ठ नेताओं को भी वर्षा बंगले से वापस जाना पड़ता था, एकनाथ शिंदे का उद्धव पर तीखा वा

मुंबई की एक चॉल के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से जुड़े एक मामले में ईडी ने रविवार को राउत के घर पर नौ घंटे तक छापेमारी करने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। अधिकारियों ने कहा कि छापेमारी के दौरान मिली 11.5 लाख रुपये की नकदी को जब्त कर लिया गया है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़