किसने किसको धोखा दिया? हम या कोई और? वरिष्ठ नेताओं को भी वर्षा बंगले से वापस जाना पड़ता था, एकनाथ शिंदे का उद्धव पर तीखा वार

 Eknath Shinde
ANI
अभिनय आकाश । Aug 02, 2022 7:42PM
महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने पुणे में कहा कि सरकार सत्ता में आई और हमारी पार्टी के प्रमुख मुख्यमंत्री बने। हम सब काम में मशगूल हो गए। इस बीच लोग मुझसे मिलने आते थे क्योंकि कुछ लोगों (उद्धव ठाकरे) के पास मिलने जाते लेकिन उन्हें उनसे मिलने का समय नहीं था।

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे आज पुणे के दौरे पर थे। इस मौके पर उन्होंने पुणे संभागीय आयुक्त कार्यालय में बारिश, भारी बारिश, फसल निरीक्षण और विकास कार्यों को लेकर आयोजित समीक्षा बैठक की। अजित पवार के भी इस बैठक में शामिल होने की चर्चा थी। लेकिन अजीत पवार बैठक में शामिल नहीं हुए। उधर, जब मुख्यमंत्री अजीत पवार के गढ़ पुणे आए और कहा, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में हुए नुकसान के आकलन का काम तत्काल पूरा किया जाए। वहीं शिंदे ने उद्धव ठाकरे को एक बार फिर से निशाने पर लिया।

इसे भी पढ़ें: आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मिले एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस, मुलाकात के बाद CM ने दिया यह बयान

महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने पुणे में कहा कि सरकार सत्ता में आई और हमारी पार्टी के प्रमुख मुख्यमंत्री बने। हम सब काम में मशगूल हो गए। इस बीच लोग मुझसे मिलने आते थे क्योंकि कुछ लोगों (उद्धव ठाकरे) के पास मिलने जाते लेकिन उन्हें उनसे मिलने का समय नहीं था। हमारे लोगों को भुगतना पड़ा, सरकार में जो हो रहा था वह असहनीय था। शिंदे ने कहा कि बालासाहेब के साथ काम कर चुके वरिष्ठ नेताओं को भी वर्षा बंगले से वापस जाना पड़ा। ऐसी शक्ति का क्या उपयोग?

इसे भी पढ़ें: आदित्य ठाकरे का बड़ा आरोप, महाराष्ट्र को विभाजित करने की हो रही कोशिश, विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा

शिंदे ने कहा कि किसने किसको धोखा दिया? हम या कोई और? हमने एक बार फिर शिवसेना का प्राकृतिक गठबंधन बनाया और यह सरकार लोगों की सरकार है।  पुणे में सीएम ने विभाग में कोविड की स्थिति की समीक्षा की। कोविड से बचाव के उपाय करने के लिए नागरिकों की जागरूकता पर जोर दिया जाना चाहिए और सभी मीडिया के माध्यम से जन जागरूकता फैलाई जानी चाहिए

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़