हार हुई, पर रार नहीं गई: बिना नाम लिए सिद्धू का चन्नी पर निशाना- माफिया राज के कारण हारी कांग्रेस

Sidhu
अंकित सिंह । Apr 22, 2022 3:03PM
नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि कांग्रेस को नवीनीकरण करना होगा। डंके की चोट पर कहूंगा कि कांग्रेस 5 साल के माफिया राज की वजह से हारी। मैं इस माफिया राज के ख़िलाफ़ लड़ता रहा। यह लड़ाई सिस्टम के ख़िलाफ़ थी। कुछ लोगों का धंधा था, जो राज्य को दीमक की तरह खा रहा था। इसमें CM भी शामिल थे।

पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस बुरी तरीके से हार गई। माना जा रहा था कि इस हार के बाद कांग्रेस में आपसी कलह अब समाप्त हो जाएगी। लेकिन ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है। नवजोत सिंह सिद्धू लगातार अपनी ही पार्टी की सरकार के खिलाफ हमलावर हैं। इसी कड़ी में आज उन्होंने बिना नाम लिए पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पर भी निशाना साधा। पंजाब में मिली हार के लिए सिद्धू ने साफ तौर पर राज्य में फैले माफिया राज को जिम्मेदार बताया और कहा कांग्रेस का नवीनीकरण करना होगा।

अपने बयान में नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि कांग्रेस को नवीनीकरण करना होगा। डंके की चोट पर कहूंगा कि कांग्रेस 5 साल के माफिया राज की वजह से हारी। मैं इस माफिया राज के ख़िलाफ़ लड़ता रहा। यह लड़ाई सिस्टम के ख़िलाफ़ थी। कुछ लोगों का धंधा था, जो राज्य को दीमक की तरह खा रहा था। इसमें CM भी शामिल थे। हालांकि यह पहला मौका नहीं है, जब नवजोत सिंह सिद्धू ने चरणजीत सिंह चन्नी पर निशाना साधा है। अवैध खनन को लेकर भी सिद्धू के निशाने पर चन्नी रहे हैं। विधानसभा चुनाव के दौरान दोनों के बीच अन-बन की खबर भी आई थी।

इसे भी पढ़ें: पंजाब में 300 यूनिट फ्री बिजली पर बोले केजरीवाल- अन्य दलों की तरह झूठे वादे नहीं करती AAP, पूरा किया पहला वादा

पार्टी को मजबूत करने के लिए अनुशासन, समर्पण और संवाद जरूरी: राजा वडिंग

पंजाब कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने पदभार ग्रहण किया और कहा कि पार्टी को मजबूत करने और चुनौतियों का सामना करने के लिए पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं को अनुशासन, समर्पण और संवाद का पालन करना होगा। सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक सोच और विचार है जिसका अंत नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि पार्टी को मजबूत करने के लिए अनुशासन जरूरी है, अगर किसी व्यक्ति या पार्टी में अनुशासन नहीं है तो वह आगे नहीं बढ़ सकती।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़