सिद्धू ने भगवंत मान को बताया ‘रबर का गुड्डा’, कहा- दिल्ली से चल रही पंजाब की सरकार

Sidhu
ANI
सिद्धू ने कहा, ‘‘आप (आप सरकार) अपने हित में उपयोग करने के लिए पुलिस का राजनीतिकरण कर रहे हैं।यह ‘बदलाव’ है या ‘बदला’...बदले की राजनीति की शुरुआत हो गई है।

चंडीगढ़। कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को ‘‘ रबर का गुड्डा’’ करार दिया और विपक्ष के आरोप को सही ठहराया कि दिल्ली से आम आदमी पार्टी (आप) का नेतृत्व राज्य में सरकार चला रहा है। उन्होंने दावा किया कि मान सरकार के आने के बाद पंजाब में कानून व्यवस्था में ‘‘भारी गिरावट’’ आईहै और गत एक महीने में 40 लोगों की हत्या हुई है। सिद्धू ने पूर्व विधायकों नवतेज सिंह चीमा और अश्विनी सेखरी के साथ पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से यहां मुलाकात की और राज्य की कानून व्यवस्था सहित विभिन्न मुद्दों को उठाया। मुलाकात के बाद सिद्धू ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान सवाल किया, ‘‘क्या वह (भगवंत मान) पंजाब की चिंता करते हैं? उन्होंने कहा, ‘‘रबर का गुड्डा’’ पंजाब का मुख्यमंत्री बन गया है।’’ सिद्धू ने कहा, ‘‘ पंजाब के मुख्यमंत्री को ‘अंखिला’ (आत्मस्वाभिमानी) होना चाहिए जिसे डोर से नहीं खींचा जा सके।’’ कांग्रेस नेता ने जाहिरा तौर पर आप नेता अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘खेल कोई खेल रहा लेकिन नाच व बोल कोई और रहा है। नकाब पहन कर जो व्यक्ति दिल्ली में यह खेल, खेल रहा है वह बेनकाब हो रहा है।’’ पंजाब में कांग्रेस इकाई के पूर्व अध्यक्ष सिद्धू ने कहा कि मान सरकार के अधीन राज्य की कानून व्यवस्था में ‘‘ तेजी से गिरावट’’आ रही है।उन्होंने दावा किया कि पिछले एक महीने में राज्य में 40 लोगों की हत्या हुई है। उन्होंने आरोप लगाया कि पंजाब सरकार पुलिस का इस्तेमाल उनको निशाना बनाने के लिए कर रही है जो केजरीवाल के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: अंतर्कलह से जूझ रही पंजाब कांग्रेस ! सिद्धू बोले- पार्टी चुनाव हार गई है लेकिन मरी नहीं

सिद्धू ने कहा, ‘‘आप (आप सरकार) अपने हित में उपयोग करने के लिए पुलिस का राजनीतिकरण कर रहे हैं।यह ‘बदलाव’ है या ‘बदला’...बदले की राजनीति की शुरुआत हो गई है।’’ उल्लेखनीय है कि सिद्धू की यह टिप्पणी केजरीवाल के खिलाफ कथित ‘‘ भड़काऊ बयान’’ देने के मामले को लेकर पूर्व आप नेता कुमार विश्वास और कांग्रेस नेता अलका लांबा के घर पंजाब पुलिस के पहुंचने के एक दिन बाद आई है। दोनों नेताओं को पूछताछ के लिए 26 अप्रैल को समन किया गया है। आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए सिद्धू ने आरोप लगाया कि उसने पंजाब की सत्ता हासिल करने के लिए ‘‘झूठ बेचा।’’उन्होंने कहा, ‘‘आप ने झूठ और सपने बेचे लेकिन उन्हें पूरा करने के लिए आपके पास संसाधन नहीं है।’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘इतने बड़े-बड़े वादे करने की क्या जरूरत थी।’’ उन्होंने इसके साथ ही रेखांकित किया कि पंजाब की वित्तीय स्थिति देश में सबसे ‘‘खराब’’ है। उन्होंने कहा कि राज्य का 85 प्रतिशत राजस्व वेतन, पेंशन और कर्ज का ब्याज देने में व्यय हो जाता है। बिजली के मोर्चे पर कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने पूछा कि मान नीत सरकार कैसे बिजली की बढ़ती मांग को पूरा करेगी। सिद्धू ने कहा, ‘‘आज, बिजली की मांग 8,000 मेगावाट तक पहुंच गई है और सरकार इसकी पूर्ति करने में अक्षम है।’’ उन्होंने दावा किया कि कोयले की कमी की वजह से ताप बिजली घर बंद हो रहे हैं। कांग्रेस ने पूछा,‘‘जब बिजली की मांग 15 हजार मेगावाट पहुंच जाएगी तब वे इस मांग को कैसे पूरा करेंगें।’’ सिद्धू ने गर्मी की वजह से गेहूं के उत्पादन में आई कमी से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए किसानों को 500 रुपये प्रति कुंतल की दर से राशि देने की मांग की।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़