उत्तर प्रदेश: कांग्रेस की मैराथन दौड़ में भगदड़, तीन लड़कियां घायल, पार्टी ने जतायी ‘साजिश’ की आशंका

उत्तर प्रदेश:  कांग्रेस की मैराथन दौड़ में भगदड़, तीन लड़कियां घायल, पार्टी ने जतायी ‘साजिश’ की आशंका

शहर के बिशप मंडल इंटर कॉलेज मैदान में मंगलवार सुबह करीब नौ बजे बरेली जिले के विभिन्न स्कूलों की छात्राएं इकट्ठा हुई थीं। आयोजकों ने ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ थीम पर मैराथन दौड़ का आयोजन किया, लेकिन आरोप है कि मैदान में क्षमता से अधिक छात्राएं एकत्रित हुईं।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस से पूरा दमखम लगा रही है। पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस लगातार उत्तर प्रदेश में खुद को मजबूत करने की कोशिश में है। इसी कड़ी में प्रियंका गांधी ने इस विधानसभा चुनाव में महिलाओं को साधना शुरू किया है। इसी को लेकर उन्होंने एक नारा दिया है ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’। आज उत्तर प्रदेश के बरेली में ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया। अचानक इस आयोजन में भगदड़ मच गया और 3 लड़कियां मामूली रूप से घायल हो गईं। सिटी मजिस्ट्रेट राजीव पांडेय के मुताबिक मैराथन दौड़ के दौरान घायल हुए तीन लड़कियों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पांडेय ने बताया कि इस आयोजन के लिए 200 बच्चियों को इकट्ठा होने की अनुमति दी गई थी लेकिन इससे कहीं ज्यादा छात्राएं आयोजन में शामिल हुईं। घायल बच्चियों का प्राथमिक उपचार कराया गया।

शहर के बिशप मंडल इंटर कॉलेज मैदान में मंगलवार सुबह करीब नौ बजे बरेली जिले के विभिन्न स्कूलों की छात्राएं इकट्ठा हुई थीं। आयोजकों ने ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ थीम पर मैराथन दौड़ का आयोजन किया, लेकिन आरोप है कि मैदान में क्षमता से अधिक छात्राएं एकत्रित हुईं। कांग्रेस ने इस घटना के पीछे भाजपा द्वारा ‘साजिश’ की आशंका जतायी है। वहीं, भाजपा ने कांग्रेस पर अपनी ओछी राजनीति के लिये मासूम बच्चियों को ‘मोहरा’ बनाने का आरोप लगाया है। हालांकि कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि इस तरह के आयोजन होते हैं तो ऐसी कुछ घटनाएं हो जाती हैं। मगर ये नहीं होनी चाहिए। आगे इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति नहीं होगी। 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री चन्नी ने केजरीवाल को लेकर दिया विवादित बयान, बोले- हमें पंजाब में नहीं लाना है कोरोना

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अशोक सिंह ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘भाजपा नेतृत्व वाली सरकार द्वारा रची गई साजिश के कारण ऐसा हुआ। जिला प्रशासन को पता था कि मैराथन दौड़ आयोजित की जा रही है, लेकिन उसने सहयोग नहीं किया।’’ इस बीच, बरेली की पूर्व महापौर सुप्रिया एरन ने मैराथन दौड़ में भगदड़ को लेकर संवाददाताओं से कहा, ‘‘लोग वैष्णो देवी तीर्थ यात्रा पर गए थे, वहां क्या हुआ? आप उस घटना को क्या कहेंगे? यह (दूसरों की) आगे बढ़ने की इंसानी फितरत है। यहां स्कूल में पढ़ने वाली लड़कियां एकत्र हुईं और थोड़ी भगदड़ हो गयी।’’ प्रदेश भाजपा ने बरेली की घटना को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा है। भाजपा ने ट्वीट कर आरोप लगाया, ‘‘अपनी ओछी राजनीति के लिए मासूम बच्चियों को मोहरा बनाने वाली कांग्रेस की बेशर्मी की पराकाष्ठा है। झांसी में बच्चियों को पिटवाया, लखनऊ में भूखे घुमाया और बरेली में कुचलवाया! शर्म करो प्रियंका वाद्रा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...