आखिर वैष्णो देवी मंदिर तीर्थ क्षेत्र में क्यों मची भगदड़ ? DGP ने बताई इसकी वजह, केंद्रीय मंत्री बोले- भर्ती लोगों की हालत स्थिर है

Dilbagh Singh
प्रतिरूप फोटो
अनुराग गुप्ता । Jan 01, 2022 12:57PM
केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि यहां भर्ती हुए लोगों की हालत स्थिर है। हम यात्रा के लिए कुछ तकनीकी समाधान जोड़ सकते हैं। पहले लोग त्योहारों के दौरान दरगाह पर जाते थे, आजकल युवा साल के पहले दिन मंदिर जाना चाहते हैं, प्रधानमंत्री मोदी स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।

जम्मू। वैष्णो देवी तीर्थ क्षेत्र में मची भगदड़ में शनिवार को 12 लोगों की मौत हो गई और कम से कम 20 लोग जख्मी हो गए। जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। इसी बीच केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह कटरा के नारायणा अस्पताल पहुंचे। जहां पर उन्होंने जख्मी लोगों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि यहां भर्ती हुए लोगों की हालत स्थिर है। हम यात्रा के लिए कुछ तकनीकी समाधान जोड़ सकते हैं। पहले लोग त्योहारों के दौरान दरगाह पर जाते थे, आजकल युवा साल के पहले दिन मंदिर जाना चाहते हैं, प्रधानमंत्री मोदी स्थिति की निगरानी कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: वैष्णो देवी मंदिर मामला: सरकार ने किया मुआवजे का ऐलान, कवींद्र गुप्ता बोले- जो चूक हुई उसके बारे में सभी को विचार करना होगा 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक केंद्रीय मंत्री ने बताया कि ये संतोषजनक बात है कि यहां पर भर्ती लोगों की हालत स्थि​र है। आईसीयू में 6 लोग भर्ती हैं जिनमें से 2 लोगों को छुट्टी दी जा सकती है। 4 व्यक्ति जनरल वार्ड में हैं वो भी छुट्टी देने के काबिल हो जाएंगे।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ में 12 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख, मुआवजे का ऐलान 

कुछ युवाओं के बीच हुई कहासुनी

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बताया कि कुछ युवाओं के बीच मामूली कहासुनी की वजह से भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हुई, जिसमें दुर्भाग्य से 12 लोगों की मौत हो गई। समाचार एजेंसी भाषा से बातचीत में दिलबाग सिंह ने बताया कि घटना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है और पुलिस एवं अन्य अधिकारियों ने स्थिति पर समय रहते काबू पा लिया। उन्होंने ने बताया कि घटनास्थल से मिली प्रारंभिक सूचना के अनुसार, कुछ युवा लड़कों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ और कुछ ही सेकंड के भीतर भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़